Ticker

6/recent/ticker-posts

जब अमिताभ बच्चन को डॉक्टरों ने मान लिया था डेड, लेकिन फिर आईसीयू में हुआ चमत्कार

नई दिल्ली। बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन की दुनियाभर में तगड़ी फैन फॉलोइंग है। सालों से वह फिल्म इंडस्ट्री में काम करते आ रहे हैं। ऐसे में फैंस उनसे बेहद प्यार करते हैं। अमिताभ बच्चन ने अपनी जिंदगी में कई तरह के मुश्किलों का सामना किया है। लेकिन एक वक्त ऐसा भी आया जब वह जिंदगी और मौत के बीच लड़ रहे थे। दरअसल, 26 जुलाई, 1982 को फिल्म ‘कुली’ की शूटिंग करते समय अमिताभ के साथ बहुत बड़ा हादसा हो गया था। वह पुनीत इस्सर के साथ एक फाइट सीन की शूटिंग कर रहे थे।

ये भी पढ़ें: जब चादर चढ़ाने गए शाहरुख खान के पांच हजार रुपए हो गए थे गायब, फकीर ने की थी ये भविष्यवाणी

कुली की शूटिंग के दौरान हुआ हादसा
शूटिंग के दौरान पुनीत इस्सर को अमिताभ को एक जोरदार घूसा मारना था। इसे सीन को रियल दिखाने के लिए उन्हें उनके पेट को छूना था लेकिन कुछ सेकंड्स की देरी के कारण उनका घूसा अमिताभ बच्चन के पेट पर जोर से लग गया। उस वक्त सब कुछ नॉर्मल रहा। अमिताभ आराम करने के लिए अपने होटल चले गए। लेकिन गुजरते वक्त के साथ उनकी तकलीफ बढ़ती चली गई। कुछ ही घंटों में ये हालत हो गई कि उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट करना पड़ा। आठ दिनो के अंदर उनकी दो सर्जरी हुई। लेकिन उनकी हालत में कोई सुधार नहीं था।

amitabh_bachchan_jaya_bachchan.jpg

डॉक्टर ने मान लिया था डेड
अमिताभ बच्चन की हालत इतनी खराब हो गई थी कि डॉक्टर ने उनकी पत्नी जया बच्चन को कहा कि वो आकर उनसे मिल ले इससे पहले कि उनकी मौत हो जाए। जया फौरन अमिताभ से मिलने के लिए अंदर गई और उन्हें देखने लगीं। डॉक्टरों ने कहा था कि अमिताभ के शरीर में कोई हलचल नहीं हो रही है लेकिन जया ने अचानक देखा कि अमिताभ के पैर का अंगूठा हिला था। इस घटना के बाद डॉक्टर्स भी हरकत में आ गए और अमिताभ बच्चन की जान बच गई थी। हालांकि, जब जया बाहर आईं तो उन्हें पता चला कि वह किसी ईश्वरी घटना का संकेत था।

ये भी पढ़ें: राजेश खन्ना के घर में घुसते ही डिंपल कपाड़िया को हो गया था शादी जल्द टूटने का एहसास

उसी वक्त हुई थी एक व्यक्ति की मौत
सिमी ग्रेवाल के टॉक शो में जया ने बताया था कि जिस वक्त अमिताभ के पैर का अंगूठा हिला था उसी वक्त आईसीयू के बगल वाले कमरे में एक व्यक्ति की मृत्यु हो गई थी। जया ने कहा था कि ये ईश्वरी घटना का संकेत था और अमिताभ को भगवान ने नया जन्म दिया था। बता दें कि होश में आने के बाद भी अमिताभ बच्चन को दो महीने बाद अस्पताल से छुट्टी मिली थी। 24 सितंबर, 1982 को वह अपने घर पहुंचे थे। बेटे को मौत को मात देकर लौटता देख डॉ. हरिवंश राय बच्चन रो पड़े थे।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3fOwNGd
via IFTTT

Post a Comment

0 Comments