Ticker

6/recent/ticker-posts

पंजाब कांग्रेस में कलह: सिद्धू पर कार्रवाई न होने से मनीष तिवारी खफा, बोले- 'वो कत्ल भी कर दें तो चर्चा नहीं होती'

नई दिल्ली। पंजाब कांग्रेस की आंतरिक कलह थमने का नाम नहीं ले रही है। राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (navjot singh sidhu) के बीच चल रही सियासी खींच-तान में पार्टी के एक और नेता ने एंट्री मार दी है। दरअसल, कांग्रेस नेता मनीष तिवारी (manish tewari) ने एक बयान दिया है, जिससे साफ जाहिर होता है कि वो सिद्धू पर कार्रवाई न होने से नाराज हैं।

मनीष ने इस अंदाज में जताई नाराजगी

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने अकबर इलाहाबादी का एक शेर लिखकर अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने सिद्धू के 'ईंट से ईंट बजा देने वाले बयान' का वीडियो अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट करते हुए लिखा 'हम आह भी भरते हैं तो हो जाते हैं बदनाम, वो कत्ल भी करते हैं तो चर्चा नहीं होती'।

सिद्धू के बयान पर क्या सोचते हैं हरीश

मनीष तिवारी का यह बयान ऐसे समय में आया है जब कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत कांग्रेस नेता राहुल गांधी से दिल्ली में मुलाकात करने पहुंचे थे। हालांकि सिद्धू के इसी बयान पर पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत पहले ही प्रतिक्रिया दे चुके हैं। उन्होंने कहा था कि इसे बगावत कहना गलत होगा, क्योंकि सबके बोलने का अंदाज अलग होता है।

यह भी पढ़ें: Punjab Congress Crisis: कैप्टन की कुर्सी को खतरा बरकरार, 5-7 मंत्री दे सकते हैं इस्तीफा

क्या है सिद्धू का बयान

अमतृसर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सिद्धू ने कहा था कि पार्टी हाईकमान को उन्हें फैसले लेने की आजादी देनी चाहिए और वह सुनिश्चित करेंगे कि पार्टी अगले 20 साल तक पंजाब में सत्ता में रहे। सिद्धू ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव के लिए उन्होंने रोडमैप तैयार कर लिया है। उन्होंने आगे कहा कि पार्टी हाईकमान को मुझे फैसले लेने की आजादी देनी चाहिए, नहीं तो ईंट से ईंट बजा दूंगा।'



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3mERQiw
via IFTTT

Post a Comment

0 Comments