Ticker

6/recent/ticker-posts

मोदी कैबिनेट में किसका कटेगा पत्ता, क्या होगा बदलाव, फेरबदल में दिखेंगे ये 5 अहम बदलाव

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के दौरान केंद्रीय मंत्रिमंडल में पहला और बड़ा फेरबदल होने जा रहा है। माना जा रहा है कि इस फेरबदल में कई युवाओं को मौका मिल सकता है। साथ ही कई मंत्रियों की छुट्टी भी हो सकती है। फेरबदल को लेकर सत्ता के गलियारों में कई प्रकार के कयास लगाए जा रहे हैं। माना जा रहा है कि अच्छा प्रदर्शन और क्षेत्रीय समीकरणों के चलते कई राज्यमंत्रियों को प्रोन्नति हो सकती है। वहीं खराब प्रदर्शन करने वाले कई मंत्रियों की छुट्टी और नए चेहरों को स्थान मिल सकता है। आइए जानते है मोदी कैबिनेट के इस फेरबदल को लेकर राजनीतिक विश्लेषक क्या राय करते है।

इनको मिल सकता है प्रमोशन
सूत्रों की माने तो कई मंत्रियों को प्रोन्नत मिल सकती है। इनमें ऊर्जा मंत्री आरके सिंह, उर्वरक राज्यमंत्री मनसुख मंडाविया, कार्मिक राज्य मंत्री जितेन्द्र सिंह, पर्यावरण राज्यमंत्री बाबुल सुप्रियो के नामों की चर्चा हो रही है। क्षेत्रीय एवं जातीय समीकरणों के आधार पर कुछ और राज्यमंत्रियों को भी प्रोन्नत किया जा सकता है।

यह भी पढ़ेंः Modi Cabinet Expansion से पहले दिल्ली रवाना हुए सिंधिया, सोनोवाल और राणे समेत कई नेता

 

कईयों पर गिर सकती है गाज
वहीं खराब कार्य करने वाले कई मंत्रियों को हटाया जा सकता है। सूत्रों के अनुसार, पिछली समीक्षा बैठकों में प्रधानमंत्री मोदी स्वयं कह चुके हैं कि कड़े फैसले लेने होंगे। जिसका स्ष्ट संदेश यह है कि खराब कार्य करने वाले मंत्रियों को आगे जारी नहीं रखा जा सकता। कई कैबिनेट मंत्रियों के दो या इससे ज्यादा मंत्रालय हैं। ऐसे मंत्रियों के विभाग कम किए जा सकते हैं।

कई नए चेहरों को मिलेगी जगह
सूत्रों का कहना है कि इस फेरबदल में कई नए चेहरों को शामिल किया जा सकता है। माना जा रहा है कि पार्टी से कई नए चेहरों को राज्यों के चुनावों या अन्य कारणों के चलते कैबिनेट में जगह दी जाएगी।

 

यह भी पढ़ेँः Modi Cabinet Expansion: शाम 6 बजे मोदी 2.0 के पहले कैबिनेट का विस्तार, कई नए चेहरों को मिलेगी जगह

सहयोगी और छोटे दलों मिल सकती हैं एंट्री
सूत्रो के अनुसार, इस फेरबदल में अहम बदलाव सहयोगी दलों को लेकर किया जाएगा। माना जा रहा है कि सहयोगी दलों की कैबिनेट में फिर से एंट्री होने जा रही है। इसमें जदयू, अपना दल, लोजपा तथा कुछ अन्य छोटे दलों को एंट्री मिल सकती है।

20 मंत्रियों को मिल सकती है कैबिनेट में जगह
मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में होने वाला यह पहला बड़ा विस्तार है। माना जा रहा है कि अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों, 2024 के लोकसभा चुनावों पर फोकस किया जा रहा है। कैबिनेट विस्तार में एसटी, ओबीसी समुदाय के लोगों को मौका मिल सकता है। अभी केंद्रीय मंत्रिमंडल में कुल 53 मंत्री शामिल हैं। जबकि केंद्रीय मंत्रिमंडल में कुल 81 मंत्रियों को शामिल किया जा सकता है। ऐसे में करीब 20 मंत्रियों को कैबिनेट विस्तार में जगह मिल सकती है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3wm4690
via IFTTT

Post a Comment

0 Comments