देश का दूसरा सबसे बड़ा Real Estate IPO लेकर आएगा Macrotech Developers

नई दिल्ली। देश और दुनिया की नामी रियल एस्टेट कंपनियों में से एक मैक्रोटेक डेवलपर्स लिमिटेड अगले सप्ताह अपना आईपीओ लाने की तैयारी कर रही है। यह देश का दूसरा सबसे बड़ा रियल एसटेट आईपीओ होगा। जिससे कंपनी 2500 करोड़ रुपए जुटाने की तैयारी कर रही है। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो कंपनी अपना आईपीओ 7 अप्रैल को लेकर आ सकती है। आपको बता दें कि मैक्रोटेक डेवलपर्स को लोढ़ा डेवलपर्स के नाम से भी जाना जाता है।

यह भी पढ़ेंः- इन सरकारी बैंकों के आज से बदले IFSC Code, अगर नहीं किया काम तो फेल हो जाएगा ट्रांजेक्शन

7 को खुलेगा 9 को बंद होगा
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आईपीओ के लिए कंपनी आज कंपनी रजिस्ट्रार के ऑफिस में ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रोस्पेक्टस फाइल करेगी। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो कंपनी के आईपीओ को सेबी की ओर से हरी झंडी मिल चुकी है। यह आईपीओ 7 अप्रैल को खुलेगा और 9 अप्रैल को बंद हो जाएगा। जानकारी के अनुसार कंपनी सेल और मार्केट सेंटीमेंट के पॉजिटिव का होने का इंतजारी कर रही थी, ऐसे में कंपनी को मौजूदा समय में रियल एस्टेट के लिए काफी बेहतर दिख रहा है। जिसकी वजह से आईपीओ लेकर आ रही है। खास बात तो ये है कि कंपनी 2009 और 2018 में भी आईपीओ लाने का प्रयास कर रही थी, लेकिन मार्केट डाउन होने के कारण अपने आपको रोक लिया।

यह भी पढ़ेंः- सरकार ने पलटा छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में कटौती का फैसला, पुरानी दरें ही रहेंगी लागू

इन बैंकों को बनाया एडवाइजर
जानकारी के अनुसार कंपनी ने सेबी को दिए अपने आवेदन में 500 करोड़ रुपए प्री आईपीओ प्लेसमेंट जुटाने की बात कही थी। कंपनी ने अभी तक प्री आईपीओ फंडिंग की राशि नहीं जुटाई है। वहीं कंपनी की ओर से कोई आधिकारिक बयान आया है। जानकारी के अनुसार कंपनी ने आईपीओ के लिए एक्सिस कैपिटल और जेपी मॉर्गन जैसे इन्वेस्टमेंट बैंकों को एडवाइजर के तौर पर नियुक्त किया है।

यह भी पढ़ेंः- 11 महीने के बाद घरेलू गैस सिलेंडर हुआ सस्ता, अब इतनी हो गई है कीमत

कंपनी उतारेगी अपना कर्ज
इस आईपीओ के माध्यम से कंपनी अपने कर्ज को कम करने का काम करेगी। जानकारी के अनुसार कंपनी 1500 करोड़ रुपए का यूज अपने और अपनी सहयोगी कंपनियों का कर्ज उतारने में करेगी। दिसंबर, 2020 तक कंपनी पर 18,662.19 करोड़ रुपए का कुल कर्ज है। दिसंबर तिमाही में कंपनी का टोटल रेवेन्यू 3,160.49 करोड़ रुपए था, जबकि कंपनी को 264.30 करोड़ रुपये का नेट लॉस हुआ था।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/2PMa5UO
via IFTTT

No comments:

Powered by Blogger.