शिवसेना विधायक का विवादित बयान, बोले- Corona का वायरस मिलता तो देवेंद्र फडणवीस के मुंह में डाल देता

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस ( Coronavirus In Maharashtra ) का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। इस बीच प्रदेश में सियासी पारा भी हाई हो गया है। कोरोना को लेकर शिवसेना और बीजेपी आमने सामने हैं। शिवसेना ( Shivsena )के विधायक संजय गायकवाड़ ( Sanjay Gaikwad ) का विवादित बयान सामने आया है।

महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ( Devendra Fadanvis )के खिलाफ शिवसेना विधायक ने आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया है।

बुलढाना से विधायक संजय गायकवाड़ ने कहा कि अगर उन्हें कोरोना वायरस के मिलते, तो वह उसे देवेंद्र फडणवीस के मुंह में डाल देते। गायकवाड़ के इन बिगड़े बोल पर पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने का रिएक्शन सामने आया है।

यह भी पढ़ेँः Corona संकट के बीच बढ़ी Oxygen Cylinder की मांग, बाजार में उपलब्ध हैं कई विकल्प

देश में सबसे ज्यादा कोरोना का कहर महाराष्ट्र में ही देखने को मिल रहा है। लेकिन इस कहर के बीच अब सियासी घमासान भी तेज हो गया है।

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने पूरे देश को अपनी चपेट में ले लिया है, लेकिन इसका सबसे ज्यादा असर महाराष्ट्र पर पड़ा है।

महाराष्ट्र में कोरोनावायरस फैल गया है और राज्य में रेमेडिसवीर, ऑक्सीजन और बेड की कमी है। बावजूद इसके अबतक सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच अच्छा तालमेल देखने को मिल रहा था। लेकिन शिवसेना विधायक के विवादित बयान ने एक बार फिर शिवसेना-बीजेपी को आमने-सामने कर दिया है।

शिवसेना विधायक संजय गायकवाड़ ने कहा कि अगर उन्हें कोरोना का वायरस मिलता तो वे देवेंद्र फडणवीस के मुंह में डाल देते।

शिवसेना विधायक के विवादित बयान पर पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने भी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने गायकवाड़ को यह कहते हुए लताड़ लगाई है, कि जब उन्होंने ये बात की होगी तब उनकी रात की उतरी ( रात में शराब पीने के बाद कही होगी )नहीं होगी।

यह भी पढ़ेंः देश में डराने वाले हैं Corona के नए आंकड़े, एक बार फिर टूटे अब तक के सारे रिकॉर्ड

फडणवीस ने कहा कि अगर वे कोरोना वायरस मेरे मुंह में डालना चाहते हैं, तो मैं उन्हें उचित मास्क पहनाना चाहूंगा। क्योंकि कोरोना वायरस रात को शराब पीने वालों के लिए बड़ा खतरा है।

आपको बता दें कि शिवसेना विधायक का बयान ऐसे समय में आया है जब महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। खास बात यह है कि तमाम उपायों के बाद भी सरकार इस महामारी पर अंकुश लगाने में अब तक सफलता हासिल नहीं कर पाई है। ऐसे में कोरोना के बीच राजनीति प्रदेश के लिए एक और बड़ी मुश्किल खड़ी कर सकती है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/2QdN4uC
via IFTTT

No comments:

Powered by Blogger.