Corona संकट के बीच पी चिदंबरम का PM Modi पर निशाना, बोले- वैक्सीन मैनेजमेंट की कमी छिपा रही सरकार

नई दिल्ली। देशभर में बढ़ते कोरोना ( Coronavirus In India )के मामलों के बीच मोदी सरकार एक बार फिर विरोधियों के निशाने पर है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ( P Chidambram ) ने टीक उत्सव के बीच पीएम मोदी ( PM Narendra Modi ) पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि मोदी सरकार देश में कोविड रोधी टीके की आपूर्ति और वितरण के प्रबंधन में अपनी नाकामी छिपाने की कोशिश कर रही है।

दरअसल देश के कई राज्यों ने केंद्र सरकार के सामने वैक्सीन की कमी को लेकर चिंता जाहिर की है। यही नहीं कई शहरों में रेमडेसिविर दवा की भी किल्लत सामने आई है।

यह भी पढ़ेँः देश में Corona का सबसे बड़ा विस्फोट, 24 घंटे में मौत से लेकर नए मामलों तक पीछे छूट गए अब तक के सभी आंकड़े

कांग्रेस के दिग्गज नेता पी चिदंबरम कोरोना संकट के बीच पीएम मोदी पर निशाना साधा है। पूर्व वित्त मंत्री ने ट्वीट किया- ‘एक दिन सरकार टीकाकरण अभियान को एक उत्सव कहती है. दूसरे दिन, इसको ‘दूसरा युद्ध’ कहती है. यह क्या है?’

चिदंबरम ने कहा, ‘याद कीजिए, जिस दिन प्रधानमंत्री ने पहली बार लॉकडाउन की घोषणा की थी. उस दिन उन्होंने दावा किया था कि महाभारत का युद्ध 18 दिनों में जीता गया था और कोरोना वायरस संकट के खिलाफ युद्ध 21 दिनों में जीता जाएगा. उस युद्ध का क्या हुआ?’

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाते हुए कहा कि, सिर्फ खोखले दावे और बयानबाजी के जरिए बड़ी-बड़ी बातें की जा रही हैं। इससे संक्रमण के फैलाव को रोकने में सफलता नहीं मिलेगी।

सरकार महज वैक्सीन की कमी और उसके वितरण प्रबंधन की विफलताओं को छिपाने का प्रयास कर रही है।

आपको बता दें कि देश में लगातार कोरोना वायरस के रिकॉर्ड केस सामने आ रहे हैं। कोरोना की दूसरी लहर ने ऐसी तबाही मचाई है कि पिछले 7 दिनों में 10 लाख से ज्यादा नए मामले दर्ज हुए हैं।

यह भी पढ़ेँः राहुल गांधी ने PM Modi के 'टीका उत्सव' पर कसा तंज, कही इतनी बड़ी बात

पिछले 7 दिन में कोरोना का कहर
13 अप्रैलः 184,372 केस, 1027 मौत
12 अप्रैलः 1,61,736 केस, 879 मौत
11 अप्रैलः 1,68.912 केस, 904 मौत
10 अप्रैलः 1,52,879 केस, 839 मौत
9 अप्रैलः 1,45,384 केस, 794 मौत
8 अप्रैलः 1,31,968 केस, 780 मौत
7 अप्रैलः 1,26,789 केस, 685 मौत

बीते 24 घंटे में 1 लाख 84 हजार 372 नए मामले सामने आने के बाद कुल मामले बढ़कर 1 करोड़ 38 लाख 73 हजार 825 हो गए हैं। कई राज्यों में वैक्सीन की कमी के चलते सेंटर बंद पड़े हैं।

सबसे ज्यादा बुरा हाल ओडिशा है, जहां 900 सेंटर वैक्सीन ना मिलने के अभाव में बंद हैं। जबकि महाराष्ट्र से लेकर केरल और अन्य राज्यों में भी स्थिति काफी चिंताजनक है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3mKxgeu
via IFTTT

No comments:

Powered by Blogger.