राहुल ने मोदी सरकार पर हमला, कहा- खोखले भाषण नहीं, समाधान चाहता है देश

नई दिल्ली। पूरा देश इस समय महामारी कोरोना वायरस से जूझ रहा है। कोरोना के मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। कोरोना पर काबू पाने के लिए कई कई राज्यों में लॉडकाउन और नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। इसी बीच कई राज्यों में ऑक्सीजन की कमी को लेकर हाहाकार मचा हुआ है। इस मुश्किल वक्त में सभी को एक साथ आगे बढ़ने की जरूरत है। ऐसे में राजनेता एक दूसरे पर बयान बाजी करने से बाज नहीं आ रहे है। कोरोना के बढ़ते मामले को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार मोदी सरकार पर निशाना साध रहे है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी का कहना है कि कोरोना के रोजाना सैकड़ों लोगों की मौत हो रही है। सरकार झूठे वादा और खोखले भाषण के कुछ नहीं कर पा रही है।

यह भी पढ़ें :— Delhi Lockdown: कैब-मेट्रो, होम डिलिवरी से दुकान तक, जानिए क्या खुला रहेगा और कहां पर छूट मिलेगी

लोगों की मौत के लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार
राहुल गांधी ने कई शहरों में ऑक्सीजन और आईसीयू बेड की कमी की खबरों के बीच शुक्रवार को मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि इस स्थिति के लिए सरकार जिम्मेदार है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ऑक्सीजन के स्तर में गिरावट का कारण कोरोना हो सकता हैं। लेकिन यहां ऑक्सीजन और आईसीयू बेड की कमी है, जिस कारण कई लोगों की मौत हो रही है। ये भारत सरकार पर निर्भर करता है।

यह भी पढ़ें :— गुड न्यूज! वैक्सीन के कच्चे माल पर रोक हटा सकता है अमेरिका, कहा- समझते हैं भारत की जरूरत

झूठे उत्सव और खोखले भाषण नहीं, देश को समाधान दो
आपको बता दें कि गुरूवार देर रात महाराष्ट्र के पालघर जिले में एक अस्पताल में आग लगने से कोविड पीड़ित 13 मरीजों की मौत हो गई थी। इस पर राहुल ने मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि देश की जनता मर रही है, लेकिन केंद्र में बैठी सरकार सिर्फ तमाशा देख रही है। देश की आज जो स्थित है उसके लिए मोदी सरकार जिम्मेदार है। क्योंकि उन्होंने कभी भी गरीब लोगों के बारे में नहीं सोचा। यह सरकार केवल पूंजीपति के हित में ही काम कर रही है। राहुल ने ट्वी कर लिखा, भारत में संकट सिर्फ कोरोना नहीं, केंद्र सरकार की जन विरोधी नीतियां हैं। झूठे उत्सव और खोखले भाषण नहीं, देश को समाधान दो।

युवाओं के प्रति अपने उत्तरदायित्व से पल्ला झाड़ रही सरकार : सोनिया गांधी
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुरुवार को कहा कि यह हैरान करने वाली बात है कि पिछले साल के कड़वे अनुभवों और लोगों को हुई तकलीफ के बावजूद सरकार लगातार मनमानी और भेदभावपूर्ण नीति पर अमल कर रही है। नई नीति के तहत सरकार 18 से 45 साल आयु वर्ग के लोगों को मुफ्त टीका उपलब्ध कराने की अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ चुकी है। उन्होंने कहा कि देश की जनता उनको कभी माफ नहीं करेगी।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3dKSMgE
via IFTTT

No comments:

Powered by Blogger.