साजिद की पत्नी लुबना ने दिवंगत वाजिद को डोनेट की थी किडनी

मुंबई। सिंगिंग रियलिटी शो 'इंडियन प्रो म्यूजिक लीग' में एक एपिसोड दिवंगत संगीतकार वाजिद खान को श्रद्धांजलि दी गई। इसकी शूटिंग हाल ही में सम्पन्न हुई। एपिसोड में साजिद खान, उनकी पत्नी लुबना और मां रजीना ने शिरकत की। साजिद इस शो में कुल छह में से एक टीम के कैप्टन हैं। शो में साजिद और उनकी मां ने खुलासा किया कि वाजिद का 2019 में किडनी ट्रांसप्लांट किया गया था। किडनी साजिद की पत्नी लुबना ने डोनेट की थी।

'कोई रिश्तेदार नहीं आया आगे'
रजीना ने इस दौरान कहा कि लुबना ने बिना बताए वाजिद को किडनी डोनेट की थी। उन्होंने कहा कि वे डायबिटिक होने के चलते किडनी डोनेट नहीं कर सकती थीं। उन्होंने अपने सारे रिश्तेदारों से इसके लिए पूछा, लेकिन कोई भी आगे नहीं आया। इसी दौरान लुबना ने अपने सारे टेस्ट चुपचाप करवा लिए और अपनी किडनी साजिद को डोनेट की। आज के जमाने में जहां कोई मां-बाप अपने बच्चों को किडनी नहीं देते, लुबना ने बिना सोचे ये काम किया। इस दौरान रजीना इमोशनल हो गईं। गौरतलब है कि 1 जून, 2020 को 47 साल के वाजिद का कॉर्डिक अरेस्ट के कारण देहान्त हो गया था।

यह भी पढ़ें: Wajid Khan के निधन के बाद Sajid Khan ने लिखा इमोशनल पोस्ट, कहा- तुझपे मेरी जिंदगी कुर्बान

'बिना बताए करवाए टेस्ट'
लुबना ने कहा,'जब मैंने सुना कि कोई और भी उन्हें किडनी दे सकता है, तो मैंने किसी से नहीं पूछा और टेस्ट करवा लिए। आखिरी टेस्ट से पहले मैंने वाजिद को सबकुछ बताया। वह बहुत दुखी था, लेकिन मैंने उससे कहा कि तुम मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण हो। इस बात ने उसे निशब्द कर दिया। जो व्यक्ति हमेशा सबके लिए खड़ा रहा, अगर उसका परिवार उसकी जरूरत पर साथ नहीं देगा, तो ये बहुत शर्मनाक होगा।'

यह भी पढ़ें : साजिद ने अपना नाम बदला

'जीवन में खुद को इतना असहाय कभी नहीं पाया'
साजिद ने भी वाजिद के किडनी ट्रांसप्लांट को याद करते हुए कहा,'वाजिद 2 साल से बीमार था और मेरी मां उसकी देखभाल करती थी। लुबना के किडनी डोनेट करने के निर्णय से मैं और मेरे बच्चे चिंता में थे, लेकिन जो भी उसने किया उससे हमें गर्व होता है। उस समय हमारे किसी भी पारिवारिक सदस्य ने हमारी मदद करने की कोशिश नहीं की। हमारे नाम, पैसा और बेस्ट डॉक्टर्स थे, लेकिन किडनी की व्यवस्था नहीं हो पा रही थी। लोग हमसे किडनी दान करने का कहकर पैसा लेकर भाग जाते थे। मैंने जीवन में खुद को इतना असहाय कभी नहीं पाया। बस यही कहना चाहता हूं कि अगर हमारा परिवार प्यार करने वाला है, तो हमें इससे ज्यादा जीवन में कुछ नहीं चाहिए। हमें परिवार के साथ समय बिताना चाहिए, उन्हें प्यार करना चाहिए और जरूरत के समय साथ रहना चाहिए।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3uFGGLf
via IFTTT

No comments:

Powered by Blogger.