संजय राउत ने किया अनिल परब का बचाव, बोले- कोई भी शिव सैनिक नहीं ले सकता बाला साहेब की झूठी कसम

नई दिल्ली। मुकेश अंबानी ( Mukesh Ambani ) के घर एंटीलिया और मनसुक हीरेन मौत मामले में गिरफ्तार सचिन वाजे ( Sachin Waze ) ने प्रदेश के गृहमंत्री अनिल देशमुख और ट्रांसपोर्ट मंत्री अनिल परब को लेकर सनसनीखेज आरोप लगाए हैं।

वाजे के इन आरोपों के बीच शिवसेना सांसद संजय राउत ( Sanjay Raut )अनिल परब के बचाव में सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि है कि अब जेल से चिट्ठी लिखना एक चलन सा बन गया है। उन्होंने दावा किया है कोई भी शिव सैनिक बाला साहेब की झूठी कसम नहीं खा सकता।

यह भी पढ़ेँः Assam Assembly Elections 2021: जानिए कौन हैं सीएम इन वेटिंग हिमंत बिस्वा सरमा, राजनीति को लेकर अब बदल गई है सोच

ये है पूरा मामला
सचिन वाझे ने एनआईए को लिखे लेटर में आरोप लगाया है कि महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख और राज्य के ट्रांसपोर्ट मंत्री अनिल परब ने उन्हें उगाही करने को कहा था। इससे पहले परमबीर सिंह ने भी आरोप लगाय था कि देशमुख ने ही वाझे को हर महीने 100 करोड़ रुपए उगाही का टारगेट दिया था।

वाजे के इस लेटर के बाद सियासत गर्मा गई है। अनिल देशमुख के बाद अनिल परब भी विरोधियों के निशाने पर आ गए हैं। यही वजह है कि संजय राउत अनिल परब के सपोर्ट में सामने आए हैं।

उन्होंने कहा- जेल से चिट्ठी लिखने का एक नया रिवाज शुरू हो गया है। ये शिवसेना के मंत्री के खिलाफ साजिश है। अनिल ऐसे काम में शामिल नहीं हो सकते। मैं इस बात को लेकर आश्वस्त कर सकता हूं कि कोई भी शिव सैनिक बाला साहेब के नाम पर झूठी कसम नहीं खा सकता

यह भी पढ़ेँः अब इस देश ने अपने यहां भारतीय यात्रियों की एंट्री पर लगा दी रोक, जानिए क्या है पीछे की वजह

परब आरोपों को बताया गलत
अपने ऊपर सचिन वाजे की ओर से लगाए गए आरोपों को अनिल परब खारिज कर दिया है। अनिल परब ने अपनी बेटियो की कसम खाते हुए खुद को बाला साहेब ठाकरे का सच्चा शिव सैनिक बताया था।

सचिन वाजे ने खत में लगाए ये आरोप
एनआईए को हाथ से लिखे खत में सचिन वाजे ने कई सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। वाजे ने कहा है कि एनसीपी चीफ शरद पवार नहीं चाहते थे कि उनकी बहाली मुंबई पुलिस में हो। लेकिन अनिल देशमुख ने कहा कि अगर दो करोड़ रुपए लाकर दोगे तो मैं शरद पवार को मना लूंगा।

इतना ही नहीं अपने खत में सचिव वाजे ने ये भी दावा किया कि महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब ने भी उसे बीएमसी से जुड़े 50 ठेकेदारों से 2-2 करोड़ रुपए उगाही करने को कहा था।

चार पेज के इस लेटर को वाझे ने एनआईए कोर्ट को सौंपा है। इसके बाद से ही सियासी हलचल तेज हो गई है। राउत ने इसी खत को शिवसेना के खिलाफ बड़ी साजिश बताया है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/2Q1koEG
via IFTTT

No comments:

Powered by Blogger.