5000 फ्रंटलाइन वर्कर्स को सलमान खान ने भेजा ब्रेकफास्ट, पहले खुद किया टेस्ट

मुंबई। कोरोना लॉकडाउन के दौरान बॉलीवुड के कई कलाकार सक्रिय हो गए हैं। पिछले साल भी बहुत से कलाकारों ने आगे बढ़कर सीधे जरूरतमंदों की और राज्य सरकारों के राहत कोश में धनराशि जमाकर मदद की थी। इस बार भी यह क्रम प्रारम्भ हो चुका है। हाल ही अक्षय कुमार ने गौतम गंभीर के फाउंडेशन में 1 करोड़ रुपए की राशि डोनेट की है। अब सलमान खान भी अपने एनजीओ बीइंग ह्यूमन के किचन में नजर आए।

रविवार को भेजे 5000 भोजन के पैकेट्स

दरसअल, सलमान खान के एनजीओ बीइंग ह्यूमन की तरफ से 5000 फ्रंटलाइन वर्कर्स जिनमें पुलिस, मेडिकल वर्कर्स आते हैं, को ब्रेकफास्ट उपलबध करवाया गया। इस दौरान सलमान खुद अपनी किचन में फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए बन रहे ब्रेकफास्ट को टेस्ट करने पहुंचे। इस दौरान सलमान भोजन के पैकेट्स का निरिक्षण करते नजर आए। एक्टर ने चीजों को टेस्ट करके भी देखा। शिवसेना के यूथ विंग, युवा सेना के कोर कमेटी मेंबर राहुल कनल के अनुसार सलमान कीचन में भोजन की क्वालिटी चैक करने आए थे। सलमान की मां भी पुलिस कर्मचारियों के लिए हाथ से बना टिफिन भेजती हैं। इस तरह सलमान ने सोचा कि लॉकडाउन के दौरान 24 घंटे की ड्यूटी कर रहे फ्रंटलाइन वर्कर्स को भोजन पहुंचाकर उनका काम आसान कर देना चाहिए। उनके अनुसार भाईजांज किचन से रविवार को 5000 भोजन के पैकेट्स भेजे गए। अभी ये पैकेट्स बायकुला से जुहू और बांद्रा ईस्ट से बीकेसी तक जाएगा। आने वाले दिनों में फूड पैकेट्स की संख्या बढ़ा दी जाएगी।

यह भी पढ़ें : दिल्ली की मदद के लिए आगे आए अक्षय कुमार

'बीइंग ह्यूमन’ और 'आई लव मुंबई’ ने संयुक्त रूप से चलाई वेन
बता दें कि पिछले साल लॉकडाउन के दौरान सलमान ने 'बिंग हंगरी’ नाम की एक वैन सेवा आरम्भ की थी। इस वैन से जरूरतमंदों और प्रवासी श्रमिकों को भोजन उपलब्ध करवाया जाता था। गौरतलब है कि सलमान खान के एनजीओ 'बीइंग ह्यूमन’ और 'आई लव मुंबई’ ने संयुक्त रूप से ’बिंग हंगरी’ नाम का वैन फ्रंटलाइन वर्कर्स को भोजन पहुंचाने के लिए किया है। 'भाईजांज’ किचन में बना भोजन इस वैन के माध्यम से शहर में जाता है और फ्रंटलाइन वर्कर्स को फूड पैकेट्स मुहैया करवाता है।

यह भी पढ़ें : देखें सलमान खान के आलीशान 'पनवेल फार्महाउस' की खूबसूरत तस्वीरें



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3eyIOhc
via IFTTT

No comments:

Powered by Blogger.