यूबीएस की 150 मिलियन डॉलर की फंडिंग से बायजू बना भारत का सबसे मूल्यवान स्टार्टअप

नई दिल्ली। ऑनलाइल टीचिंग ऐप बायजू देश का सबसे मूल्यवान स्टार्टअप बन गया है। जिसमें सबसे बड़ा योगदान यूबीएस की 150 मिलियन डॉलर की फंडिंग का है। जानकारी के अनुसार यूबीएस अपना रुपया डबल करने की वजह से चर्चा में रहती है। ऐसे में बायजू के साथ अपने निवेश से डबल मुनाफा कमाने का प्रयास करेगी। इससे पहले फेसबुक से भी निवेश लिया है। बायजू ऑनलाइन एजुकेशन स्टार्टअप है जिसकी शुरुआत बैंगलोर स्थित बायजू रविंद्रन ने की थी। रविंद्रन कंपनी के एक तिहाई मालिक भी हैं।

यह भी पढ़ेंः- राहुल बजाज ने दिया बजाज ऑटो से इस्तीफा, नीरज के हाथों में आई कंपनी की कमान

भारत में बायजू के यूजर्स की कमी नहीं
कुछ समय पहले फाउंडर रविंद्रन ने एक मीडिया इंटरव्यू में कहा था कि कोविड 19 महामारी के कारण बच्चों का स्कूल जाना बंद है। अब उन्हें और उनके पेरेंट्स को ऑनलाइन टीचिंग की आदत पड़ गई है। ऐसे में भारत में 80 मिलियन से ज्यादा लोग बायजू ऐप का यूज कर रहे हैं। उन्होंने इस बात की भी जानकारी दी कि बायजू ने भारत के अलावा अमरीका और ऑस्ट्रेलिया में भी बच्चों को कोडिंग सिखानी शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ेंः- Reliance Quarterly Result से पहले शेयर बाजार लुढ़का, टाइटन के शेयर में गिरावट

इन देशों में भी बायजू दे रहा है टीचिंग
बायजू सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया के दूसरे देशों में भी टीचिंग दे रहा है। कोविड 19 का असर दूसरे देशों में भी दिखाई दिया है। वहां पर भी ऑनलाइन टीचिंग का चलन पहले ज्यादा बढ़ा है। ऐसे में बायूलू ने विदेशों में अपनी गणित और कोडिंग की क्लास देनी शुरू कर दी है। यूएस, यूके, ऑस्ट्रेलिया और मैक्सिको में ये कोडिंग सिखा रहा है। आने वाले दिनों में दूसरे देशों में भी शुरूआत की जा सकती है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3nAr75c
via IFTTT

No comments:

Powered by Blogger.