दिसंबर 2020 में अमेरिका में 1.4 लाख नौकरियों की कटौती हुई, इसका असर सिर्फ महिलाओं पर ही पड़ा

ब्यूरो ऑफ लेबर स्टैटिक्स ने अमेरिका में रोजगार को लेकर ताजा आंकड़े जारी किए हैं। आंकड़ों के मुताबिक, दिसंबर 2020 में अमेरिका में एम्पलॉयर्स ने कुल 1.40 लाख नौकरियों की कटौती की है। डाटा से नौकरियों को लेकर एक चौंकाने वाले जेंडर गैप सामने आया है। आंकड़ों के मुताबिक, दिसंबर में जितनी भी नौकरियां गई हैं, उसका असर सिर्फ महिलाओं पर ही पड़ा है।

2020 की शुरुआत में अलग थी कहानी

2020 की शुरुआत में यह कहानी बिलकुल अलग थी। तब अमेरिकी अर्थव्यवस्था में कुल नौकरीपेशा वर्कफोर्स में महिलाओं की संख्या पुरुषों के मुकाबले ज्यादा थी। यह स्थिति करीब तीन महीने तक रही थी। इससे पहले 2009 में छोटी अवधि और 2010 की शुरुआत में भी कुल वर्कफोर्स में महिलाओं की संख्या पुरुषों से ज्यादा थी। आंकड़ों से पता चलता है कि अमेरिका में महिलाएं पुरुषों के मुकाबले पार्ट टाइम ज्यादा करती हैं। घरेलू जिम्मेदारियों को निभाने के कारण यह चलन बना हुआ है। इसके अलावा महिलाएं पुरुषों के मुकाबले कम कमाती हैं। आंकड़ों के मुताबिक, पुरुषों के एक डॉलर के मुकाबले महिलाओं को 81 सेंट की कमाई होती है।

अश्वेत और लातिन महिलाओं की नौकरियां ज्यादा गई

एक अन्य सर्वे के मुताबिक, दिसंबर 2020 में अश्वेत (ब्लैक) और लातिन महिलाओं की नौकरियां ज्यादा गई हैं। सर्वे के मुताबिक, अश्वेत और लातिन महिलाएं कठिन सेक्टर्स में काम करती हैं। इन सेक्टर्स में महामारी के दौरान बीमारी की छुट्टी और वर्क फ्रॉम होम जैसी सुविधा का अभाव है। सर्वे के मुताबिक, महामारी के कारण स्कूल और डे-केयर बंद पड़े हैं। इस कारण अधिकांश महिला वर्कफोर्स को कार्य और पेरेंटिंग में सामंजस्य बनाने में दिक्कत हो रही है।

फरवरी से अब तक 54 लाख महिलाओं की नौकरियां गईं

अमेरिका में फरवरी में कोरोना महामारी की शुरुआत से अब तक 54 लाख महिलाओं की नौकरी जा चुकी है। जबकि 44 लाख पुरुषों को ही अपनी नौकरी गंवानी पड़ी है। 2020 की शुरुआत में अमेरिका की कुल नौकरियों में महिलाओं की 50.03% हिस्सेदारी थी। लेकिन साल के अंत में पुरुषों के मुकाबले महिला कर्मचारियों की संख्या 8.60 लाख कम थी। एजुकेशन, हॉस्पिटेलिटी और रिटेल सेक्टर में बड़ी कटौती के कारण महिलाओं की संख्या में कमी आई है। इन सेक्टर्स में महिलाओं को प्रभावशाली माना जाता है।

लातिन महिलाओं में सबसे ज्यादा बेरोजगारी दर

इंस्टीट्यूट फॉर वूमन पॉलिसी रिसर्च की प्रेसीडेंट और CEO सी. निकोल मैसन का कहना है कि हमारा महामारी पर कोई कंट्रोल नहीं है। स्कूल और डे-केयर अभी भी बंद पड़े हैं। हम जानते हैं कि इसका महिलाओं पर वर्कफोर्स में दोबारा एंट्री पर क्या असर पड़ेगा? दिसंबर में रेस्टोरेंट और बार ने अधिकांश नौकरियों में लंबे समय के लिए कटौती कर दी है। इसका सबसे ज्यादा असर पार्ट-टाइम वर्कर्स पर पड़ा है। आंकड़ों के मुताबिक, इस समय लातिन अमेरिकी महिलाओं में सबसे ज्यादा 9.1% की बेरोजगारी दर है। 8.4% के साथ अश्वेत महिलाएं दूसरे और 5.7% की दर के साथ श्वेत महिलाएं तीसरे नंबर पर हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
एक अन्य सर्वे के मुताबिक, दिसंबर 2020 में अश्वेत (ब्लैक) और लातिन महिलाओं की नौकरियां ज्यादा गई हैं।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3hVxxZV
via IFTTT

No comments:

Powered by Blogger.