Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

कैसे होता है सोशल मीडिया अकाउंट हैक? जानें इससे बचने के तरीके

16 दिसंबर 2020 को दोपहर 12 बजकर 44 मिनट पर बॉलीवुड एक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर ने एक ट्वीट कर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट के हैक होने की जानकारी दी थी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा- मेरा इंस्टाग्राम अकाउंट हैक कर लिया गया है। वह आपको पहले मैसेज (DM) करते हैं, फिर अकाउंट वेरिफाई करने के लिए कुछ स्टेप्स फॉलो करने को कहते हैं। फिर यह हैक कर लिया जाता है। उन्होंने इसकी शिकायत मुंबई साइबर सेल में की। इसके एक दिन बाद 17 दिसंबर को दोपहर 3 बजे एक्ट्रेस ने ट्वीट कर अपने अकाउंट को रिकवर होने की जानकारी दी।

यह पहला मौका नहीं था, जब किसी सेलेब्रिटी, बिजनेसमैन या राजनेता का सोशल मीडिया अकाउंट हैक हुआ हो। इससे पहले सितंबर में पीएम नरेंद्र मोदी की पर्सनल वेबसाइट के ट्विटर अकाउंट और जुलाई में जो बाइडेन, बराक ओबामा, बिल गेट्स और एलन मस्क जैसी हस्तियों के ट्विटर अकाउंट हैक होने की खबर आ चुकी है। पहले भी कई फेमस लोगों के सोशल मीडिया अकाउंट हैक होते रहे हैं।

स्टैटिस्टा के एक सर्वे की मानें, तो दुनियाभर में सोशल मीडिया हैकिंग के मामले बढ़े हैं। इनमें 22% इंटरनेट यूजर्स के सोशल मीडिया अकाउंट हैक किए जा चुके हैं। 14% ऐसे यूजर्स हैं, जिनका सोशल मीडिया अकाउंट एक से ज्यादा बार हैक किया जा चुका है।

हैकर्स किन तरीकों से करते सोशल मीडिया अकाउंट हैक?

बैंगलुरु में रहने वाले साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट अविनाश जैन कहते हैं कि सभी सोशल मीडिया अकाउंट को हैक करने का तरीका हैकर्स का एक जैसा ही होता है। वह हैकर्स के हैक करने के दो तरीकों की जानकारी देते हैं।

इन दो गलतियों का फायदा उठाते हैं हैकर्स

1. पहला: टेक्नीकल फ्लॉस (Technical Flaws)

  • एक्सपर्ट कहते हैं कि आपके सोशल मीडिया अकाउंट, जैसे- फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर और लिंक्डइन होते हैं। यूजर्स इन सभी डिजिटल प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल सोशल और प्रोफेशनल तौर पर लोगों से जुड़ने के लिए करते हैं। इन दो गलतियों की वजह से हैकर्स अकाउंट हैक कर सकते हैं। पहली तो अगर सोशल मीडिया की एप्लीकेशन में किसी तरह का लूपहोल होता है, तो इन्हीं टेक्नीकल फ्लॉस का फायदा हैकर्स उठाते हैं। हालांकि, सोशल मीडिया की कंपनियों के पास अच्छे टेक्नीकल प्रोफेशनल की टीम होती हैं, लेकिन इसके बावजूद भी हैकर्स टेक्नीकल लूपहोल निकाल ही लेते हैं।

2. दूसरा- फिशिंग ट्रेप (Phishing Trap)

  • एक्सपर्ट के मुताबिक, दूसरी गलती जिसका फायदा हैकर्स उठाते हैं। वह यूजर्स की गलतियां ही होती हैं। इसमें कई तरह से हैकर्स लोगों की ID हैक कर सकते हैं। इसको ऐसे समझ सकते हैं कि हैकर्स कॉल या मैसेज करके आपसे फिशिंग लिंक शेयर कर सकते हैं। जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे, तो आप फेसबुक, ट्विटर जैसी दिखने वाली साइट पर जा सकते हैं। इस पर वे लॉगिन करने को कहेंगे। अगर उनके झांसे में आकर लॉगिन करते हैं, तो हैकर्स अकाउंट का ID और पासवर्ड चुरा सकते हैं। उन्हें हैक करने में आसानी हो सकती है। कई बार प्राइवेसी सेटिंग बदलने के नाम पर भी हैकर्स OTP मांग सकते हैं।

फेसबुक और ट्विटर पर जानें कि आपका अकाउंट हैक हुआ है

इन तीन स्टेप से जान सकते हो कि आपका फेसबुक और ट्विटर अकाउंट हैक किया गया है या नहीं। इनकी हेल्प से आप डिवाइस के लॉग इन की पूरी डिटेल और अकाउंट की सारी हिस्ट्री पता कर सकते हैं।

हैकिंग को कैसे रोक सकते हैं?

एक्सपर्ट्स सोशल मीडिया पर हैकिंग से बचने के लिए सबसे ज्यादा यूजर्स को जागरुक रहने की सलाह देते हैं। वह कहते है कि किसी के साथ अपनी सोशल मीडिया अकाउंट की डिटेल शेयर करने से बचें। अगर कोई अनजान नंबर से आपके मोबाइल पर फोन करके OTP मांगता हैं, तो न दें। फिशिंग लिंक का ध्यान रखें। ऐसे लिंक पर ही क्लिक करें, जो ऑथेंटिक हो। कंपनियों को भी अपनी एप्लीकेशन की रेगुलर टेस्टिंग एंड ऑडिटिंग और इन्फ्रास्ट्रक्चर की टेस्टिंग IT प्रोफेशनल से कराते रहना चाहिए। इसकी चेकिंग के लिए थर्ड पार्टी IT कंपनियों से भी रिव्यू कराते रहना चाहिए।

प्राइवेसी को लेकर भारत में किसी तरह का कानून है?

एक्सपर्ट की मानें तो डेटा प्रोटेक्शन को लेकर इंडिया में फिलहाल किसी तरह का कानून नहीं बना है। 11 दिसंबर 2019 को मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फॉरमेशन टेक्नोलॉजी मिनिस्ट्री ने पर्सनल डेटा प्रोटेक्शन बिल (PDP) संसद में पेश किया था। जो अभी तक पेंडिंग है। हालांकि, NCPI ने प्राइवेसी को लेकर गाइडलाइन जारी की है। इसके तहत देश का डेटा देश में ही रहना चाहिए, उसे बाहर ले जाने की अनुमति नहीं है। वहीं, यूरोप में डेटा प्रोटेक्शन को लेकर GDPR नाम से कड़ा कानून बनाया गया है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
How is social media account hacked? Learn ways to avoid it?


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3mEsz4A
via IFTTT

Post a Comment

0 Comments