जब कोयले की वजह से इस शहर पर 5 दिन के लिए छा गया था स्मॉग, 12 हजार की जान चली गई थी

ठंड आते ही सबसे बड़ी समस्या जो आती है, वो है स्मॉग की। आज से 68 साल पहले 1952 में ब्रिटेन की राजधानी लंदन में ऐसा भयानक स्मॉग छाया था, जिसने 12 हजार से ज्यादा लोगों की जान ले ली थी। ये स्मॉग कोई एक या दो दिन नहीं, बल्कि 5 दिन तक छाया रहा था।

हुआ ये था कि दिसंबर में ब्रिटेन में जबरदस्त ठंड पड़ती है। वहां सर्दियों के मौसम में अक्सर कोहरा छाया रहता था। 5 दिसंबर की सुबह भी कुछ ऐसी ही थी। जब लंदन के लोग सुबह सोकर उठे, तो बाहर घना अंधेरा था और चारों तरफ सिर्फ और सिर्फ धुआं ही धुआं था। सबको लगा कि जैसा कोहरा रोज होता है, वैसा ही ये भी होगा।

मगर पूरा दिन बीत जाने के बाद भी धुआं छटा नहीं, बल्कि और गहरा होता गया। ये इतना गहरा था कि विजिबिलिटी 1 फीट से भी कम हो गई थी। लोग घबराने लगे थे। सांस लेने में तकलीफ भी होने लगी थी। 5 दिसंबर को लंदन पर छाया ये स्मॉग 9 दिसंबर को हटा था।

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, इस स्मॉग की वजह से 5 दिन में ही 4 हजार से ज्यादा लोग मारे गए थे। जबकि कई मीडिया रिपोर्ट्स में इस स्मॉग में मरने वालों की संख्या 12 हजार से ज्यादा बताई गई थी। इस स्मॉग में 1.5 लाख से ज्यादा लोग बीमार पड़े थे।

1952 की सर्दियों में लंदन में फैले स्मॉग को सबसे खतरनाक माना जाता है।

अब इस खतरनाक स्मॉग के छाने का कारण भी जान लीजिए। होता ये था कि 13वीं सदी से ही लंदन में लोगों को कोयला जलाने की आदत पड़ गई थी। ऊपर से वहां की फैक्ट्रियों में भी कोयले का बहुत इस्तेमाल होता था। ऐसे में लोगों के घरों से और कारखानों से निकला धुआं ऊपर हवा में उठा। वहां पहले से ही धुंध की नमी थी। धुआं और नमी एक-दूसरे से मिले और स्मॉग बन गया।

सर्दी और धुंध की वजह से धुआं ऊपर उठा ही नहीं। वहीं जम गया। इस खतरनाक स्मॉग को "ग्रेट स्मॉग ऑफ लंदन" कहा जाता है। इस स्मॉग के बाद कानून बना, जिसमें घरों में कोयला जलाने पर रोक लगा दी गई। इसके साथ ही फैक्ट्रियों में भी कोयले की जगह ऐसे फ्यूल का इस्तेमाल करना जरूरी कर दिया, जिससे धुआं न निकले।

आज ही शुरू हुई थी STD सर्विस, इसी से लंबी दूरी के कॉल होने लगे
टेलीकॉम की दुनिया में आज का दिन भी ऐतिहासिक है। 5 दिसंबर 1958 को इंग्लैंड के ब्रिस्टल में सब्सक्राइबर ट्रंक डायलिंग यानी STD की सर्विस शुरू हुई थी। पहली बार ये सर्विस ब्रिस्टल के 18 हजार लोगों के लिए शुरू हुई थी। इसी सर्विस की मदद से लंबी दूरी के कॉलिंग को मुमकीन बनाया था।

हालांकि, इंग्लैंड में इससे पहले भी STD कॉलिंग होती थी, लेकिन वो सिर्फ वहां की महारानी के लिए थी। भारत में STD की सर्विस 1960 में शुरू हुई थी। भारत में पहली बार लखनऊ और कानपुर के बीच STD के जरिए कॉलिंग हुई थी।

भारत और दुनिया में 5 दिसंबर की महत्वपूर्ण घटनाएं इस प्रकार हैं:

  • 1657 : शाहजहां के छोटे बेटे मुराद ने खुद को बादशाह घोषित किया।
  • 1917 : रूस में नई क्रांतिकारी सरकार गठन तथा रूस-जर्मनी के बीच युद्ध विराम हुआ।
  • 1943 : जापानी हवाई जहाज ने कोलकाता पर बम गिराया।
  • 1950 : भारतीय लेखक अरबिंदो घोष का निधन हुआ।
  • 1950 : सिक्किम भारत का संरक्षित राज्य बना।
  • 1951 : प्रख्यात कलाकार तथा साहित्यकार अवनीन्द्रनाथ ठाकुर का निधन हुआ।
  • 1969 : भारत की प्रसिद्ध महिला निशानेबाज अंजलि भागवत का जन्म हुआ।
  • 1971 : भारत ने बांग्लादेश को एक देश के रूप में मान्यता दी।
  • 1973 : गेराल्ड फोर्ड ने अमेरिका के उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ ली।
  • 1989 : मुलायम सिंह यादव पहली बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने।
  • 1999 : चेचेन्या में रूस ने अस्थायी तौर पर सेना तैनात करने की घोषणा की।
  • 2001 : अमरीकी सेनाओं ने ओसामा बिन लादेन के अफगानिस्तान स्थित तोरा बोरा पहाड़ी ठिकाने पर कब्जा किया।
  • 2003 : चीन में पहली बार आयोजित विश्व सुंदरी प्रतियोगिता में आयरलैंड की रोसन्ना दासनन विजयी हुई।
  • 2013 : नेल्सन मंडेला का निधन में हुआ।
  • 2016 : तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता का निधन हुआ।


आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
oday History: Aaj Ka Itihas India World December 5 | What Happened On This Day, Aaj Ka Itihas Kya Hai


from Dainik Bhaskar /national/news/aaj-ka-itihas-india-world-december-5-history-update-kya-hai-127981400.html
via IFTTT

No comments:

Powered by Blogger.