Header Ads Widget

Ticker

6/recent/ticker-posts

रुझानों में जो बाइडेन की बढ़त से अमेरिकी शेयर बाजारों में 120 साल का रिकॉर्ड टूटा, भारतीय बाजार में भी दिखा असर

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों में देरी होने और रुझानों में जो बाइडन का आगे रहने से ग्लोबल मार्केट में शानदार तेजी देखने को मिली है। इसी दौरान वॉल स्ट्रीट में बढ़त के सौ सालों से भी अधिक समय का रिकॉर्ड भी टूट गया। दूसरी ओर इमर्जिंग मार्केट में भी शानदार रिकवरी देखने को मिली। भारत के बाजारों में भी तेजी लगातार जारी है। बीएसई का मार्केट कैप पहली बार रिकॉर्ड 163 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंच गया है।

चुनाव में जो बाइडन की जीत

डेमोक्रेट पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बनेंगे। उनके पास 279 इलेक्टोरल वोट हो चुके हैं। राष्ट्रपति बनने के लिए 270 का आंकड़ा चाहिए। इससे पहले चुनावी नतीजे साफ न होने और जो बाइडन का रुझानों में आगे रहने के कारण वैश्विक बाजारों में शानदार तेजी देखने को मिली। अमेरिका में चुनाव के बाद वॉल स्ट्रीट में रिकॉर्ड बढ़त देखने को मिला।

चुनाव के बाद पहले कारोबारी दिन के लिहाज से अमेरिकी बाजारों में बुधवार को कई रिकॉर्ड बने -

1. एसएंडपी 500 इंडेक्स कारोबार सत्र के दौरान 3.3% ऊपर पहुंच गया था, जो पिछले सात महीनों में कारोबारी दिन का उच्चतम स्तर है। बढ़त का यह आंकड़ा 90 साल में सबसे अधिक है। इससे पहले साल 1932 के राष्ट्रपति चुनाव के बाद पहले कारोबारी इंडेक्स में ऐसी बढ़त देखने को मिली थी। इंडेक्स की इस बढ़त को फाइनेंशियल कंपनियों के शेयरों ने लीड किया।

2. इसी दौरान डाउ जोंस इंडेक्स भी 2.7% या 737 अंक ऊपर 28,217 के स्तर पर पहुंच गया था। इलेक्शन के बाद पहले दिन की यह बढ़त 120 सालों में सबसे अधिक है, जो साल 1900 के बाद पहली बार देखने को मिली। जबकि डाउ जोंस इंडेक्स इतिहास 124 साल पहले का है।

3. नैस्डैक इंडेक्स में भी बुधवार को 4.41% की बढ़त के साथ बंद हुआ था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 1971 के बाद राष्ट्रपति चुनाव के बाद पहले कारोबारी दिन में यह सबसे अधिक बढ़त रही। 49 साल बाद इस बढ़त को टेक शेयरों ने सहारा दिया था। इसमें माइक्रोसॉफ्ट, अमेजन, फेसबुक और गूगल के शेयर शामिल हैं, जिन्होंने औसतन 5% बढ़त हासिल की थी।

शुक्रवार को बाजार फ्लैट रहा

2016 में राष्ट्रपति चुनाव के बाद अमेरिकी बाजारों में पहले कारोबारी दिन के दौरान भारी बिकवाली देखने को मिली थी। क्योंकि, डोनाल्ड ट्रम्प ने सभी रुझानों को गलत साबित करते हुए जीत हासिल की थी। वहीं, शुक्रवार को वॉल स्ट्रीट में तीनों इंडेक्स फ्लैट बंद हुए थे।

हालांकि, दो दिनों में डाउ जोंस 496 अंकों की बढ़त के साथ शुक्रवार को डाउ जोंस 28,323.40 अंकों पर बंद हुआ, जो बुधवार को 27,847.70 पर बंद हुआ था। नैस्डैक इंडेक्स भी 314 अंकों की बढ़त देखने को मिली और शुक्रवार को इंडेक्स 12,091.30 पर बंद हुआ। इसी दौरान एसएंडपी 500 इंडेक्स 66 अंकों की बढ़त के साथ 3,509.44 पर बंद हुआ, जो बुधवार को 3,443.44 पर बंद हुआ था।

अमेरिका में 1981 से अब तक 6 राष्ट्रपति चुने गए और जो बाइडन 7 होंगे। हालांकि हम बात 6 की ही करने वाले हैं, जिसमें देखेंगे कि किस राष्ट्रपति के कार्यकाल में अमेरिकी बाजारों ने कितना रिटर्न दिया-

1. अमेरिका के 40वें राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन

(कार्यकाल - 20 जनवरी 1981- 20 जनवरी 1989)

इंडेक्स रिटर्न (%)
डाउ जोंस 135
नैस्डैक 97
एसएंडपी 500 118
तीनों का औसत 177

​​सोर्स - ब्लूमबर्ग

2. अमेरिका के 41वें राष्ट्रपति जॉर्ज बुश सीनियर

(कार्यकाल - 20 जनवरी 1989 - 20 जनवरी 1993)

इंडेक्स रिटर्न (%)
डाउ जोंस 45
नैस्डैक 78
एसएंडपी 500 51
तीनों का औसत 58

सोर्स - ब्लूमबर्ग
3. अमेरिका के 42वें राष्ट्रपति बिल क्लिंटन (20 जनवरी 1993- 20 जनवरी 2001)

इंडेक्स रिटर्न (%)
डाउ जोंस 226
नैस्डैक 295
एसएंडपी 500 210
तीनों का औसत 244

सोर्स - ब्लूमबर्ग

4. अमेरिका के 43वें राष्ट्रपति जॉर्ज बुश जूनियर ( 20 जनवरी 2001 - 20 जनवरी 2009)

इंडेक्स रिटर्न (%)
डाउ जोंस -22
नैस्डैक -45
एसएंडपी 500 -37
तीनों का औसत -35

सोर्स - ब्लूमबर्ग

5. अमेरिका के 44वें राष्ट्रपति बराक ओबामा ( 20 जनवरी 2009- 20 जनवरी 2017)

इंडेक्स रिटर्न (%)
डाउ जोंस 141
नैस्डैक 268
एसएंडपी 500 170
तीनों का औसत 193

सोर्स - ब्लूमबर्ग

6. अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ( 20 जनवरी 2017- अबतक)

इंडेक्स रिटर्न (%)
डाउ जोंस 43
नैस्डैक 114
एसएंडपी 500 55
तीनों का औसत 71

सोर्स - ब्लूमबर्ग

इमर्जिंग मार्केट में भी रिकवरी

प्रेसिडेंशियल इलेक्शन में जो बाइडेन की बढ़त से MSCI का इमर्जिंग मार्केट इंडेक्स भी 2.9% ऊपर चढ़ा है। ब्लूमबर्ग के मुताबिक मई 2018 के बाद इंडेक्स अपने उच्चतम स्तर पर पहुंचा है। कोरोना महामारी के बीच यह शानदार रिकवरी है। इस बढ़त को चीन, अर्जेंटीना, इंडोनेशिया और दक्षिण अफ्रीका के बाजारों में तेजी और अमेरिकी डॉलर की कीमत में गिरावट से सपोर्ट मिला है।

इस हफ्ते भारतीय शेयर बाजार में शानदार तेजी

भारतीय शेयर बाजार पर भी अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव का असर दिखा। इस हफ्ते बीएसई सेंसेक्स 2279 अंक ऊपर 41,893 पर पहुंच गया है, जो बीते शुक्रवार को 39,614 पर बंद हुआ था। वहीं, निफ्टी भी 622 अंक ऊपर 12,263 पर पहुंच गया है, जो बीते शुक्रवार 11,642 के स्तर पर बंद हुआ था। इसके अलावा बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप भी 5.70 लाख करोड़ रुपए बढ़कर 163.60 लाख करोड़ रुपए हो गया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
US presidential election impact on share market; Indian share market, global market update


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2JOx5zF
via IFTTT

Post a Comment

0 Comments