ड्रग्स मामले में आज फिर रिया से पूछताछ, गिरफ्तारी संभव; आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में सुशांत की बहन पर केस दर्ज

ड्रग्स एंगल से जांच कर रही नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की टीम ने मंगलवार सुबह 10.30 बजे रिया चक्रवर्ती को एक्सचेंज बिल्डिंग में स्थित एनसीबी ऑफिस में बुलाया है। आज उसने पूछताछ का तीसरा दिन है। इससे पहले सोमवार को रिया चक्रवर्ती से 8 घंटे पूछताछ की गई। पिछले दो दिन में उनसे कुल 14 घंटे पूछताछ की जा चुकी है।

इस मामले में एक बड़ा ट्विस्ट देर रात आया है। रिया चक्रवर्ती की शिकायत के बाद मुंबई पुलिस ने सुशांत सिंह राजपूत की बहन प्रियंका सिंह और राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉक्टर तरुण कुमार सहित अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। बांद्रा पुलिस स्टेशन में सुशांत को आत्महत्या के लिए उकसाने, धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश रचने का केस दर्ज किया है। खास यह है कि सुशांत की मौत के बाद मुंबई पुलिस ने पहली बार कोई एफआईआर दर्ज की है। उनकी मौत पर भी एक्सीडेंटल डेथ रिपोर्ट(एडीआर) दर्ज हुई थी।

एनसीबी दफ्तर से निकलने के बाद रिया देर शाम सीधे बांद्रा पुलिस स्टेशन पहुंचकर सुशांत की बहन प्रियंका समेत अन्य के खिलाफ शिकायत दी थी। इसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि प्रियंका सिंह ने डॉक्टर की फर्जी पर्ची बनवाकर अवैध दवा की खरीदारी के लिए पर्ची सुशांत को दी थी। रिया की तरफ से दी गई शिकायत में आरएमएल अस्पताल, दिल्ली के डॉक्टर तरुण कुमार पर आरोप लगाया गया कि डॉक्टर ने प्रियंका के कहने पर बिना सुशांत की जांच किए उन्हें डिप्रेशन की दवाएं दी थीं। उन्होंने इन पर जालसाजी, एनडीपीएस एक्ट और टेली मेडिसिन प्रैक्टिस गाइडलाइंस, 2020 के उल्लंघन के खिलाफ शिकायत दी गई थी, जिसपर यह कार्रवाई हुई है।

सुशांत के पारिवारिक वकील ने दिया जवाब
रिया चक्रवर्ती द्वारा मुंबई पुलिस और बांद्रा पुलिस को दी गई शिकायत पर वकील विकास सिंह ने अपने बयान में कहा कि इस शिकायत से ये साफ है कि मुंबई पुलिस को किसी भी तरह से इस मामले से जोड़े रखने की कोशिश की जा रही है ताकि वह केस को अपनी तरह से हैंडल करें और यह सुनिश्चित कर सकें कि सुशांत के परिवार को न्याय न मिले। उन्होंने कहा कि अगर मुंबई पुलिस शिकायत दर्ज करती है तो हम सुप्रीम कोर्ट जाएंगे, क्योंकि यह अवमानना का मामला है। मुंबई पुलिस को शिकायत लेने का कोई हक नहीं है।

भाई और मिरांडा के सामने बैठाकर हुई पूछताछ
सोमवार को रिया चक्रवर्ती सुबह करीब 9.30 बजे बल्लार्ड एस्टेट स्थित एजेंसी के कार्यालय पहुंची थीं और शाम को करीब छह बजे वहां से निकलीं। रिया पुलिसकर्मियों के साथ थीं और उनके पास एक बैग भी था। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की टीम ने रिया चक्रवर्ती को मामले में पहले से गिरफ्तार शोविक चक्रवर्ती, सैमुअल मिरांडा के सामने बैठाकर पूछताछ की। तकरीबन 8 घंटे की पूछताछ में रिया ने खुद ड्रग्स लेने की बात कबूल नहीं की। हालांकि, ड्रिंक्स और स्मोकिंग की बात कबूल की है। रिया का यही कहना है कि उसने जो भी किया सुशांत सिंह राजपूत के लिए किया।

जांच में सहयोग कर रही हैं रिया: एनसीबी उप महानिदेशक
एनसीबी के उप महानिदेशक (दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र) मुथा अशोक जैन ने कहा, ''वह कल आई थीं और आज भी आईं। हमने सभी दिन उनसे बात की, सवाल पूछे। इसलिए मैं यह नहीं कह सकता कि वह सहयोग नहीं कर रही हैं। वह कल भी इसी समय पर आएंगी। हमें उनका सहयोग मिल रहा है।'' उन्होंने कहा कि एजेंसी ''पेशेवर'' तरीके से जांच कर रही है और इस मामले में प्राप्त निष्कर्षों के बारे में अदालत को ''विस्तार'' से अवगत कराया जाएगा।

सुशांत की बहन और डॉक्टर के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई
एनसीबी दफ्तर से निकलने के बाद रिया देर शाम सीधे बांद्रा पुलिस स्टेशन पहुंचकर सुशांत की बहन प्रियंका, दिल्ली के एक डॉक्टर तरुण कुमार और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई। इससे पहले रिया ने अपने वकील सतीश मानशिंदे के जरिए भी प्रियंका और डॉक्टर तरुण कुमार के खिलाफ पुलिस स्टेशन में अप्लीकेशन दी थी। आरोप है कि प्रियंका सिंह ने डॉक्टर की फर्जी पर्ची बनवाकर अवैध दवा की खरीदारी के लिए पर्ची सुशांत को दी थी। रिया की तरफ से दी गई शिकायत में आरएमएल अस्पताल, दिल्ली के डॉक्टर तरुण कुमार पर आरोप लगाया गया कि डॉक्टर ने प्रियंका के कहने पर बिना सुशांत की जांच किए उन्हें डिप्रेशन की दवाएं दी थीं। उन्होंने इन पर जालसाजी, एनडीपीएस एक्ट और टेली मेडिसिन प्रैक्टिस गाइडलाइंस, 2020 के उल्लंघन के खिलाफ शिकायत दी है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
सोमवार को एनसीबी ऑफिस से 8 घंटे की पूछताछ के बाहर बाहर निकलती हुई अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3jVl3B5
via IFTTT
Previous
Next Post »