फेसबुक के नाम से शिवसेना की फर्जी खबर को सच मान बैठी कंगना, एक घंटे बाद समझ आया तो सफाई दी

लगातार शिवसेना पर हमलावर कंगना रनोट सोमवार रात एक ऐसी वेबसाइट की खबर को सच मान बैठीं, जो फिक्शन स्टोरी बनाती है। द फॉक्सी नाम की वेबसाइट ने शिवसेना की ताजा गतिविधियों को ध्यान में रखते हुए फिक्शन खबर बनाई थी, जिसकी हेडलाइन थी, "फेसबुक ने 'खुद को शिवसेना के गुंडों से सुरक्षित रखें' फीचर लॉन्च किया।" कंगना ने वेबसाइट के ट्वीट को री-ट्वीट किया और फेसबुक का शुक्रिया अदा भी कर दिया।

एक्ट्रेस ने अपने ट्वीट में लिखा था, "शुक्रिया फेसबुक। लोकतंत्र में फ्री स्पीच को प्रोटेक्ट किया जाना चाहिए। लोगों को कोविड-19 वायरस की तरह ही सोनिया सेना के गुंडों से बचने की जरूरत है। इस बात को समझने के लिए शुक्रिया। बहुत अच्छा किया।"

एक घंटे बाद समझीं वेबसाइट की हकीकत

हालांकि, एक घंटे बाद कंगना रनोट को वेबसाइट की हकीकत समझ आई तो उन्होंने सफाई दी। वे लिखती हैं, "मैंने जो खबर टैग की, उसका अकाउंट स्पष्ट रूप से कहता है कि यह एक फिक्शन न्यूज सोर्स है। यह सरकाज्म और शटायर के लिए है।" कंगना को इसके लिए ट्रोल भी किया जा रहा था, जिसके जवाब में उन्होंने लिखा, "सभी मंदबुद्धि एक्साइटेड हो गए हैं। बैठ जाइए प्लीज।"

##

शिवसेना पर कंगना हमला

एक्ट्रेस के मनाली लौटने के बाद महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब ने उन्हें धमकी दी थी। उन्होंने कहा था कि अगर कंगना को मुंबई पीओके लगती है, तो उन्हें अपना बोरिया बिस्तर समेट लेना चाहिए।

जवाब में कंगना ने शिवसेना पर निशाना साधा और लिखा, "आपको कैसे लगा कि आप इस तरह से डिक्टेट कर सकते हैं? हो सकता है कि यह आपका और आपकी सोनिया सेना का सत्ता से बाहर होने का समय हो? नहीं? क्या यह पॉलिटिक्स, पावर में कॉमन नहीं है। सत्ता की गतिशीलता हमेशा बदलती रहती है। आपको कैसे लगा कि यह आपकी स्थाई जगह है?"

##

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
मुंबई की तुलना पीओके से करने के बाद कंगना रनोट और शिवसेना के बीच का विवाद थम नहीं रहा है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/32tCAug
via IFTTT
Previous
Next Post »