सीन को रिक्रिएट करने से लेकर मुंबई पुलिस कमिश्नर से मुलाकात तक आज सीबीआई करेगी यह काम; फिलहाल नहीं होगी किसी की गिरफ्तारी

सुप्रीम कोर्ट द्वारा अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच का आदेश आने के दूसरे दिन गुरुवार शाम को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष जांच टीम (एसआईटी) मुंबई पहुंच गई। शुक्रवार को टीम ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है।

दिल्ली सीएफएसएल के 12 विशेषज्ञों के साथ पुलिस अधीक्षक (एसपी) नूपुर प्रसाद के नेतृत्व में तीन जांच अधिकारियों की टीम मुंबई पुलिस से दस्तावेज एकत्र करेगी और सुशांत की मौत की जांच करने वाले अधिकारियों से मुलाकात करेगी।अधिकारी दिवंगत अभिनेता के बांद्रा स्थित आवास पर भी जाएंगे, जहां उनका शव 14 जून को लटका हुआ पाया गया था। डॉक्टरों की टीम प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से अबतक हुई जांच का ब्योरा भी मांगेगी। इस बीच, बीएमसी अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि शहर में रहने के दौरान सीबीआई टीम को क्वारैंटाइन नहीं किया जाएगा। इससे पहले मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह गुरुवार, दोपहर बाद मंत्रालय में गृहमंत्री अनिल देशमुख से मुलाकात करने पहुंचे थे।

जांच के लिए इन जगहों पर जाएगी सीबीआई की टीम

  • मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के ऑफिस में सीबीआई का एक अधिकारी आकर पत्र सौंपेंगे कि वे मुंबई में जांच शुरू करने का रहे हैं। मुंबई पुलिस से दस्तावेज की मांग करेंगे।
  • सुशांत के बांद्रा स्थित घर पर क्राइम के रीक्रिएशन के लिए सीबीआई की टीम पहुंचेगी। वहां लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की जायेगी और पड़ोसियों का बयान दर्ज भी होगा।
  • रिया चक्रवर्ती की दोस्त के घर जायेगी सीबीआई की टीम, वे बांद्रा में अपनी एक दोस्त के साथ पिछले 15 दिनों से रह रही हैं।
  • सीबीआई की टीम उलवी में रिया के पिता के फ्लैट पर भी जा सकती है। वहां वह परिवार के सदस्यों यानी भाई शोविक, पिता इन्द्रजीत और मां का बयान लेगी। ये सभी सीबीआई की एफआईआर में नामजद हैं।

फिलहाल नहीं होगी किसी की गिरफ्तारी

इस बीच, न्यूज एजेंसी एनएनआई को सीबीआई अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि वे सुशांत की मौत के मामले में किसी भी संदिग्ध को तब तक गिरफ्तार नहीं करेंगे जब तक कि उनके खिलाफ कोई ठोस और ठोस सबूत नहीं मिलता। इस बीच मुंबई पुलिस के डीसीपी अभिषेक त्रिमुखे को सीबीआई और मुंबई पुलिस के बीच नोडल अफसर बनाया गया है। इस मामले में वे हर संभव मदद सीबीआई को देंगे।

सीबीआई को इन पॉइंट्स का पता लगाना है

सीबीआई की जांच बिहार पुलिस की एफआईआर पर बेस्ड होगी। इसमें आत्महत्या के लिए उकसाने, धोखाधड़ी और साजिश रचने का मुकदमा दर्ज किया गया था। उस एफआईआर में आईपीसी की धारा 341, 348, 380, 406, 420, 306 और 120बी शामिल हैं। इसके अलावा, सीबीआई को इन पॉइंट्स का पता लगाना है।

  • सुशांत सिंह राजपूत की मौत खुदकुशी है या मर्डर? दोनों के पीछे का कारण।
  • सुशांत की मौत में रिया, उनके परिवार, बॉलीवुड से जुड़े लोग और उसके घर पर काम करने वाले लोगों की क्या भूमिका थी?
  • पैसों के लेन-देन, कमाई और सुशांत के पिता द्वारा लगाये आरोपों की जांच करना।
  • सुशांत की बीमारी, उनके डिप्रेशन की थ्योरी और उनके डॉक्टर्स के दावों की पड़ताल करना। पिता ने डॉक्टर्स पर भी संदेह जताया है।
  • पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट की सच्चाई को परखना और फॉरेंसिक रिपोर्ट से इसका मिलान करना।
  • कॉल डिटेल्स की पड़ताल और इलेक्ट्रॉनिक एविडेंस के सहारे इस केस की तह तक जाने का प्रयास किया जाएगा।
  • 13 और 14 जून का पूरा सच सामने लाने की पूरी जिम्मेदारी भी सीबीआई के कंधों पर रहेगी।

सीबीआई के सामने 3 चुनौतियां

1. सुशांत की मौत को 60 से ज्यादा दिन हो गए हैं। क्राइम सीन पर साक्ष्य पूरी तरह मिट चुके होंगे। सीबीआई के पास सिर्फ मौके से ली गई तस्वीरें ही सहारा होंगी।

2. मुंबई पुलिस का पूरा रिकॉर्ड मराठी भाषा में है और उसे मराठी से इंग्लिश में ट्रांसलेशन कराने में लंबा वक्त लग सकता है। इनमें 56 गवाहों के बयान भी शामिल हैं।

3. सुशांत की मौत का कोई भी चश्मदीद गवाह नहीं है। केवल एक आदमी है जिसने डेड बॉडी को लटके देखा और उसने भी डेड बॉडी उतार दी। ऐसे में डेड बॉडी कहां और कैसे लटकी हुई थी उसके पैर कहां पर थे इन बातों को समझने के लिए भी सीबीआई को मशक्कत करनी पड़ेगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
सीबीआई की टीम गुरुवार शाम को मुंबई एयरपोर्ट पर पहुंची और फिलहाल एयरफोर्स के गेस्टहाउस में रुकी है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3aK4yET
via IFTTT
Previous
Next Post »