5 महीने तक बंद रहने के बाद श्रद्धालुओं के लिए खुले वैष्णो देवी मंदिर के कपाट

जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश में वैष्णो देवी मंदिर समेत अन्य धार्मिक स्थलों को रविवार सुबह भक्तों के लिए खोल दिया गया। Image Source : PTI FILE

कटरा: जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले में त्रिकुटा पहाड़ियों पर स्थित प्रसिद्ध माता वैष्णो देवी मंदिर के कपाट श्रद्धालु के लिए खोल दिए गए हैं। यह प्रसिद्ध मंदिर कोरोना वायरस के कारण करीब 5 महीने तक बंद रहा था। जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश में इस मंदिर समेत अन्य धार्मिक स्थलों को रविवार सुबह भक्तों के लिए खोल दिया गया। बता दें कि फिलहाल पहले हफ्ते में एक दिन में 2 हजार श्रद्धालु मंदिर में दर्शन कर सकेंगे। इनमें से 1,900 जम्मू-कश्मीर से होंगे तथा बाकी के 100 लोग अन्य प्रदेशों से होंगे।

पहले दिन दर्शन करने आए आसपास के श्रद्धालु

जम्मू से मंदिर दर्शन के लिए आए 12 सदस्यीय समूह के खुशविंदर सिंह ने कहा, ‘मैं महीने में कम से कम एक बार मंदिर दर्शन के लिए आता था। मंदिर खुलने के पहले ही दिन यहां आकर मैं सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूं।’ सिंह कटरा स्थित आधार शिविर में तड़के 4 बजे ही पहुंच गए। पवित्र गुफा के दर्शन करने वाला यह पहला जत्था था। इसके बाद श्रद्धालुओं के लिए मंदिर के दरवाजे 6 बजे फिर खुले। 

18 मार्च को रोक दी गई थी वैष्णो देवी यात्रा
श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रमेश कुमार ने बताया, ‘कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए 18 मार्च को एहतियाती तौर पर वैष्णो देवी यात्रा रोक दी गई थी। अब जब प्रशासन ने धार्मिक स्थलों को पुन: खोलने का फैसला किया है तो बोर्ड ने इस भयावह संक्रामक रोग की चुनौती को देखते हुए सभी आवश्यक कदम उठाए हैं।’

पहले हफ्ते में प्रतिदिन 2000 श्रद्धालु करेंगे दर्शन
पहले हफ्ते में प्रतिदिन 2,000 श्रद्धालु मंदिर में दर्शन कर सकेंगे जिनमें से 1,900 जम्मू-कश्मीर से होंगे तथा बाकी के 100 लोग अन्य प्रदेशों से होंगे। उन्होंने बताया कि रेड जोन तथा जम्मू-कश्मीर के बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को कोविड-19 जांच करवानी होगी, जिनकी रिपोर्ट में संक्रमणमुक्त होने की पुष्टि होगी वे ही आगे जा सकेंगे।



from India TV Hindi: india Feed https://ift.tt/2Y4YYro
via IFTTT
Previous
Next Post »