बिग बी ने शेयर की नानावटी के हेल्थ वर्कर्स की वह प्रार्थना, जो वे कोविड-19 के पेशेंट्स के इलाज के दौरान भगवान से करते हैं

महानायक अमिताभ बच्चन को नानावटी हॉस्पिटल में कोविड-19 का इलाज कराते हुए 19 दिन बीत चुके हैं । बुधवार को उन्होंने अपने ब्लॉग और सोशल मीडिया के जरिए उन मेडिकल प्रोफेशनल की सराहना की, जो निस्वार्थ भाव से कोविड पेशेंट्स की सेवा कर रहे हैं। उन्होंने उन्हें पीपीई किट्स में भगवान बताया है। बिग बी की मानें तो ये डॉक्टर्स और नर्सिंग स्टाफ न केवल दवा के जरिए मरीजों का इलाज कर रहे हैं, बल्कि भगवान से उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए प्रार्थना भी कर करते हैं। अमिताभ के मुताबिक, हेल्थ वर्कर्स ने उनकी ये प्रार्थना उनके साथ साझा की है।

बिग बी ने ब्लॉग में लिखा है, “वे जो वॉरियर्स के रूप में कोविड से लड़ाई लड़ रहे लोगों को इस खतरनाक वायरस से राहत और छुटकारा दिलाने के लिए अथक रूप से, निस्वार्थ रूप से अपना समय और एनर्जी दे रहे हैं, अपने हाथ जोड़कर सर्वशक्तिमान से मरीजों के लिए प्रार्थना भी करते हैं। यहां नानावटी हॉस्पिटल में मैं उनके अंडर में इलाज करा रहा हूं, उन्होंने वह प्रार्थना मेरे साथ शेयर की है, जिसका पाठ वे हर दिन करते हैं।” इसके नीचे बिग बी ने प्रार्थना का प्रिंट स्क्रीन शेयर किया है। इसमें लिखा है:-

“ये भगवान, जिंदगी के तोहफे और इस खूबसूरत दिन के लिए शुक्रिया। हम अपने मरीज को आपकी निगरानी में समर्पित करते हैं। मुझे आशीर्वाद दीजिए कि मैं अपने मरीज की जरूरत को समझ सकूं और उसके लिए जो बेहतर हो वह कर सकूं।

मुझे इतनी ईमानदारी और सच्चाई दीजिए कि जब कोई मेरे काम को देख भी नहीं रहा हो, तब भी मैं आपकी इच्छानुसार सही काम ही करूं। सभी को आशीर्वाद दीजिए कि सब सभी के लाभ के लिए काम कर सकें और हम सभी एक परिवार की तरह एक-दूसरे की देखभाल कर सकें।”

महीनों से अपने प्रियजनों से नहीं मिले मिले मेडिकल प्रोफेशनल

अमिताभ के ब्लॉग की मानें तो ये मेडिकल प्रोफेशनल्स महीनों से अपने प्रियजनों से नहीं मिले हैं। उन्होंने लिखा है- वे अपनी कंडीशन पर ध्यान नहीं देते, बल्कि उनकी कंडीशन का ख्याल रखते हैं, जिनका वे इलाज कर रहे हैं। वे उन्हें स्वस्थ करके अपने प्रियजनों के पास भेजते हैं।वे पीपीई किट्स में भगवान हैं। हम उनका सम्मान करते हैं, उनकी सराहना करते हैं और उनका बहुत आदर करते हैं।

उन्होंने महीनों से अपने प्रियजनों को नहीं देखा है। वे हमेशा परिसर में रहते हैं और किसी भी परिस्थिति के लिए मिनट भर में तैयार हो जाते हैं। राहत पहुंचाने के लिए तैयार…हमारे और हमारे अपनों के चेहरों पर मुस्कान लाने के लिए तैयार... नमन ।

11 जुलाई से भर्ती हैं अमिताभ

77 साल के अमिताभ और उनके 44 वर्षीय बेटे अभिषेक 11 जुलाई से अस्पताल में भर्ती हैं। अस्पताल प्रबंधन या बच्चन परिवार की ओर से उनकी सेहत को लेकर कोई अपडेट नहीं दी गई है। पिछले दिनों जब बिग बी की बहू ऐश्वर्या और पोती अस्पताल से डिस्चार्ज हुई थीं, तब अभिषेक ने ट्वीट कर यह जानकारी दी थी कि वे और उनके पिता फिलहाल अस्पताल में ही डॉक्टर्स की निगरानी में रहेंगे।

अमिताभ की ये खबरें भी पढ़ सकते हैं:-

अस्पताल में अमिताभ का 19वां दिन:सांप और सपेरे की कहानी बताकर ट्रोलर्स को एकबार फिर नसीहत दी, लिखा- जो महकता है वही पूरा जीवन आनंदित रहता है

क्या कोरोना मुक्त हुए अमिताभ:बिग बी ने ब्लॉग में लिखी आराध्या के गले लगने की बात, कोविड से संक्रमित इंसान का ऐसा करना नियमों के खिलाफ

अस्पताल में अमिताभ का 18वां दिन:बहू और पोती को मिली अस्पताल से छुट्टी तो बिग बी के आंसू निकले, आराध्या ने गले लगकर कहा- मत रोइए, आप जल्दी ही घर आएंगे

नानावटी हॉस्पिटल से अच्छी खबर:ऐश्वर्या-आराध्या का कोविड टेस्ट निगेटिव आया, 10 दिन बाद हॉस्पिटल से छुट्टी मिली, अब घर पर ही रहेंगी

अमिताभ के बंगले कंटेंनमेंट जोन से मुक्त:14 दिन बाद बीएमसी ने तीनों बंगलों से हटाए कंटेंनमेंट जोन के पोस्टर, बिग बी और उनके बेटे के भर्ती होने के बाद लगाए गए थे

बिग बी ने बताया आइसोलेशन वार्ड का अनुभव:अमिताभ ने लिखा- जिस डॉक्टर की निगरानी में कोविड पेशेंट का इलाज चलता है, वह कभी करीब नहीं आता

फैन्स को याद कर भावुक हुए अमिताभ:बिग बी ने सोशल मीडिया पर लिखा- आज जलसा के फाटक सील्ड हैं, सुनसान हैं, भगवान ने चाहा तो ये गेट फिर प्यार से भर जाएंगे

बिग बी की कोरोना से लड़ाई:अस्पताल में भी अमिताभ की दिनचर्या घर जैसी; योग से शुरुआत, सोने से पहले ब्लॉग लिखना नहीं भूलते, परिवार एक फ्लोर पर

अस्पताल में अमिताभ:बिग बी की फर्जी हेल्थ अपडेट पर अशोक पंडित ने दिया था रिएक्शन, अब सफाई में बोले- मुझे एक चैनल ने यह खबर दी थी



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अमिताभ बच्चन ने अपने ब्लॉग में लिखा है कि कोविड पेशेंट्स का इलाज कर रहे हेल्थ वर्कर्स ने महीनों से अपने प्रियजनों को नहीं देखा है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3f782Sg
via IFTTT
Previous
Next Post »