स्कूली लड़कों के अश्लील चैट वायरल

इंस्टाग्राम पर 'बॉयज लॉकर रूम' (BoysLockerRoom) पर अश्लील चैट का मामला सामने आने के बाद दिल्ली पुलिस के साइबर क्राइम सेल ने स्वतः संज्ञान लेते हुए इसकी जांच शुरू कर दी। इस समूह मामले के संबंध में एक स्कूली छात्र (एक किशोर) को पकड़ा गया है। लगभग सभी सदस्यों (21) की पहचान कर ली गई है। उन सभी की जांच की जाएगी। दिल्ली पुलिस साइबर सेल ने दिल्ली के स्कूली लड़कों को इंस्टाग्राम चैट रूम पर बलात्कार को बढ़ावा देने पर कार्रवाई की है।

पकड़े गए लड़के की जांच की जा रही है

पकड़े गए छात्र का मोबाइल फोन बरामद कर लिया गया है और उसकी जांच भी की जा रही है। आपको ये बात जानकर हैरानी होगी कि ये स्कूली लड़के अश्लील मैसेज के जरिए लड़कियों की जिंदगी खराब करने से लेकर दुष्कर्म करने तक की बातें कर रहे थे। मामला सामने आने के बाद दिल्ली महिला आयोग ने इंस्टाग्राम के साथ दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया। इंस्टाग्राम को कुछ जानकारी 8 मई तक मुहैया करवाने का आदेश भी दिया गया है। वहीं पुलिस से सख्त कार्रवाई करने की बात कहते हुए मामले में शामिल आरोपितों के खिलाफ एफआईआर की डिटेल भी 8 मई तक मांगी गई है।

कैसे सामने आया पूरा मामला?

दरअसल सोमवार सुबह #boyslockerroom ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा था। जिसमें इस ग्रुप के कई चैट्स के स्क्रीनशॉट तक शेयर किए जा रहे थे। आपतो बता दें boys locker room इंस्टाग्राम पर बनाए गए एक अकाउंट का नाम है। इसपर कुछ स्कूली छात्र न केवल अश्लील चैट कर रहे थे, बल्कि वे इस ग्रुप में लड़कियों की तस्वीर डालकर सामूहिक दुष्कर्म करने की बात तक कर रहे थे। एक ट्वीटर यूजर ने ग्रुप के स्क्रीन शॉट लेकर सोशल मीडिया पर डाल दिए, जिसके बाद इस पूरे मामले का पता चला।


पुलिस ने क्या कहा?

एक रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले में दिल्ली पुलिस ने कहा कि इंस्टाग्राम पर बनाए गए स्कूली छात्रों के इस ग्रुप में छात्र छोटी लड़कियों की तस्वीरें बांट रहे हैं। इतना ही नहीं, उनके द्वारा अश्लील बातें की जा रही हैं और आपत्तिनजक शब्दों तक का इसमें इस्तेमाल किया गया। चौंकाने वाली बात यह है कि इस ग्रुप से जुड़े अधिकतर छात्र स्कूलों में पढ़ते हैं। डीसीपी अन्येश राय ने बताया कि स्वत: संज्ञान लेकर मामला दर्ज किया गया है। साइबर सेल मामले की जांच कर रहा है। इसके साथ ही इंस्टाग्राम को पत्र लिखकर इस ग्रुप से जुड़ी सभी जानकारी मांगी गई है। इंस्टाग्राम से मिली जानकारी के आधार पर आगे की कार्रवाई तय की जाएगी।

महिला आयोग ने क्या जानकारी मांगी?

इस मामले में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने इंस्टाग्राम को नोटिस जारी कर ग्रुप के एडमिन व अन्य सदस्यों की जानकारी के साथ ही उनका यूजर्स नेम व हैंडल नेम, ईमेल आईडी, आईपी एड्रेस, लोकेशन व अन्य जानकारी मांगी है। आयोग ने कहा है कि एक सोशल मीडिया कंपनी होने के नाते इस प्रकार के कार्य पर इंस्टाग्राम को नजर रखनी चाहिए थी और पुलिस को जानकारी देनी चाहिए थी। आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने इसे लेकर कड़ी प्रतिक्रिया दर्ज की है।

महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने क्या कहा?

महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने इसे लेकर एक वीडियो में कहा, 'इंस्टाग्राम पर कुछ लड़कों ने एक ग्रुप बनाया है, जिसका नाम है boyslockerroom। इस ग्रुप में वो छोटी लड़कियों की फोटो सर्कुलेट कर रहे हैं। उनके ऊपर अभद्र टिप्पणी कर रहे हैं और यहां तक कि इस ग्रुप में वो मिलकर ये भी प्लैन कर रहे हैं कि कैसे छोटी बच्चियों का रेप किया जाए। ये बहुत ही डराने और चौंका देने वाला है। दिल्ली महिला आयोग ने इंस्टाग्राम और दिल्ली पुलिस दोनों को नोटिस जारी किया है। क्योंकि हम ये चाहते हैं कि ये लड़के तुरंत गिरफ्तार होने चाहिए। और इनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।'

इन धाराओं के तहत दर्ज हुआ मुकदमा

दिल्ली पुलिस ने इस मामले में धारा 465 (जालसाजी), 471 (वास्तविक जाली दस्तावेज या इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्ड के रूप में उपयोग), 469 (प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाने के लिए जालसाजी) के तहत मामला दर्ज किया है। इसके अलावा 509 (शब्द, इशारा या कार्य) धारा 67 (इलेक्ट्रॉनिक रूप में अश्लील सामग्री को प्रकाशित करना या प्रसारित करना) और आईटी अधिनियम की धारा 67A (इलेक्ट्रॉनिक रूप में यौन स्पष्ट अधिनियम वाली सामग्री का प्रकाशन या प्रसारण) के तहत मामला दर्ज किया है।


Previous
Next Post »