लॉकडाउन में लोगों को खाना-सामान दे रहीं आपराधिक गैंग, सरकार ने कहा- इनसे मदद न लें, नतीजे बुरे होंगे

पिछले कुछ दिनों से दक्षिणी मैक्सिको के ग्युरेरो के कई इलाकों में रहवासियों को बिलबोर्ड्स दिखाई दे रहे हैं। इनमें लिखा है ‘इगुआला के रहवासियों, आप घर पर ही रहें, हम बाहर किसी तरह की अराजकता नहीं चाहते, आपलॉकडाउन का सम्मान करें, अगर कोई बाहर मिलता है तो हम उसे गंभीर चोट पहुंचाएंगे।’ ये संदेश स्थानीय अधिकारियों या सरकार की ओर से नहीं बल्कि ड्रग्स गैंग द्वारा लिखवाए गए हैं।

यह सिर्फ अकेला मामला नहीं है।मैक्सिको के कई राज्यों में इन आपराधिक गैंग्स ने कर्फ्यू लगा रखेहैं।इस दौरान लोगों को खाने-पीने और जरूरत का सामान भी इन्हीं गैंग्स के लोग पहुंचा रहे हैं। हालांकि, सरकार लोगों से आग्रह कर रही है कि इन आपराधिक पृष्ठभूमि वाले लोगों से मदद न लें, वरना भविष्य में इसके नतीजे खतरनाक होंगे।

25 से 30 हजार रुपए तक की आर्थिक मदद दी
कुछ हफ्तों पहले इटली, ब्राजील और अल सल्वाडोर से भी इसी तरह की खबरें मिलीं थी। इटली के नैपल्स और पलेर्मो में भी कुछ आपराधिक गैंग्स लोगों को खाना और ड्रग्स दे रहीं थीं। दक्षिणी इटली में तो लोगों को 25 से 30 हजार रुपए तक की आर्थिक मदद और तोहफे दिए गए।

मैक्सिको के कुछ अस्पताल इन गैंग्स की मदद ले रहे हैं
कोरोना के दौर में मैक्सिको के गुरेरो, मिचोआकेन, तमुलिपास और गुआनाजुआटो जैसे गरीब राज्यों में ये संगठन खाना पहुंचा रहे हैं। इसी तरह उत्तरी मैक्सिको की एक गैंग फूड बॉक्स के साथ हैंड सैनिटाइजर दे रही है। इस सील्ड बॉक्स पर गैंग का नाम लिखा रहता है। इसके अलावा मैक्सिको के कुछ अस्पताल मेडिकल उपकरण की कमी पूरी करने के लिए इन गैंग्स की मदद ले रहे हैं।

संकट खत्म होने पर गैंग्स आपसे मदद मांगेगे: सरकार

मैक्सिको के अलावा कोलंबिया, द.अफ्रीका और जापान में भी संगठित अपराध समूह जरूरी सामान की सप्लाई कर रहे हैं। इटली की तरह ही मैक्सिको की ये गैंग्स छोटे कारोबारियों को कम दरों पर कर्ज भी दे रही हैं। पर सरकार ने लोगों को चेतावनी दी है कि ये गैंग्स नियंत्रण बढ़ाने की कोशिश कर रही हैं। जब संकट खत्म हो जाएगा तो ये एहसान का बदला मनी लॉन्ड्रिंग, पुलिस से सुरक्षा के रूप में मांगेंगे।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
इटली की तरह ही मैक्सिको की ये गैंग्स छोटे कारोबारियों को कम दरों पर कर्ज भी दे रही हैं। -प्रतीकात्मक फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2TcHHu4
via IFTTT
Previous
Next Post »