अब तक 4605 पॉजिटिव: 24 घंटे में 147 मरीज स्वस्थ हुए, प्रियंका गांधी की बसों पर सरकार ने लगाया सर्टिफिकेट का ब्रेक

उत्तर प्रदेश में कोविड-19 मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। सोमवार को भी 147 मरीजों को विभिन्न कोविड-19 अस्पतालों से घर भेजा गया, जबकि मरीजों की कुल संख्या 4605 है। इनमें से 1704 ही एक्टिव मरीज प्रदेश में बचे हैं। अब तक प्रदेश में 2783 कोरोना पॉजिटिव को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया जा चुका है। इस बीच,लॉकडाउन में फंसे यूपी के प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए कांग्रेस की ओर से एक हजार बसें उपलब्ध कराने के पत्र पर यूपी सरकार ने पलटवार करते हुए अब मंगलवार दस बजे तक बसों के फिटनेस सर्टिफिकेट और ड्राइवरों के लाइसेंस सहित सभी दस्तावेज लखनऊ डीएम ऑफिस में जमा करने को कहा है। हालांकि प्रियंका गांधी के निजी सचिव ने इसका जवाब देते हुए कहा है कि सरकार का यह कदम राजनीति से प्रेरित लगता है।

सरकार के कदम काप्रियंका गांधीके निजी सचिव ने दिया जवाब
लॉकडाउन में फंसे यूपी के प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए कांग्रेस की ओर से एक हजार बसें उपलब्ध कराने के पत्र पर यूपी सरकार और प्रियंका गांधी के बीच लेटर वार शुरू हो गया है। पहले सरकार ने बसों की सूची मांगी, इसके बाद अब मंगलवार दस बजे तक बसों के फिटनेस सर्टिफिकेट और ड्राइवरों के लाइसेस सहित सभी दस्तावेज लखनऊ डीएम ऑफिस में जमा करने को कहा गया है। देर रात प्रियंका गांधी के निजी सचिव की ओर से पत्र जारी कर कहा गया कि यह मांग पूरी तरह से राजनीति से प्रेरित लगती है।अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी की ओर से प्रियंका के निजी सचिव को चिट्ठी लिख कर कांग्रेस द्वारा भेजी जाने वाली एक हजार बसों का फिटनेस प्रमाण पत्र और ड्राइवरों का पूरा ब्योरा मांगा।

प्रियंका गांधी के निजी सचिव ने अपर मुख सचिव अवनीश अवस्थी को लिखा पत्र
प्रियंका गांधी के निजी सचिव ने अपर मुख सचिव अवनीश अवस्थी को लिखा पत्र

उन्होंने लिखा कि कृपया समस्त बसों सहित उनका फिटनेस सर्टिफिकेट एवं चालक के ड्राइविंग लाइसेंस के साथ ही साथ परिचालक का पूर्ण विवरण मंगलवार सुबह 9 बजे वृंदावन योजना सेक्टर 15-16 में जिलाधिकारी लखनऊ को उपलब्ध कराने का कष्ट करें। अवस्थी के इस पत्र के बादप्रियंका गांधी ने निजी सचिव ने रात 2 बजे एक पत्र लिख जवाब दिया कि आपने 1000 बस तमाम दस्तावेजों सहित लखनऊ में सुबह 10:00 बजे बसें हैंडओवर करने की बात कही है। उन्होंने लिखा कि 1000 खाली बसे लखनऊ भेजना ना सिर्फ समय की बर्बादी और संसाधन की बर्बादी है। उन्होंने लिखा कि आपकी सरकार की यह मांग पूरी तरह से राजनीति से प्रेरित लगती है।
महाराष्ट्र से लौटे मजदूरों ने कहा- वहां से न भागते तो भूखों मर जाते

यह तस्वीर वाराणसी की है। यहां महराष्ट्र से मजदूरों का आना जारी है। यहां आने वाले कामगारों का कहना है कि यदि वहां से न भागते तो भूखों ही मरना पड़ता।
यह तस्वीर वाराणसी की है। यहां महराष्ट्र से मजदूरों का आना जारी है। यहां आने वाले कामगारों का कहना है कि यदि वहां से न भागते तो भूखों ही मरना पड़ता।

वाराणासी में कोरोना संक्रमितों की संख्या 101 पहुंच गई है। जहां 68 लोग स्वस्थ हुए है तो 4 लोगो की मौत हो चुकी है। लाख दावों के बावजूद प्रवासी मजदूर राजातालाब, रोहनियां, बाबतपुर,चौबेपुर हाइवे पर दिख ही जा रहे है। गांवो में कोरोना की दस्तक ने चिंता बढ़ा दी है। महराष्ट्र से लौट रहे मजदूर झब्बू ने बताया कि वहां प्लम्बर का काम करता था। वहां से न भागते हम लोग तो भूखे मर जाते। सेठ पैसे भी नहीं दिया और वहां के लोग नहीं चाहते कि हम लोग वहां रहें।

महोबा में सड़क हादसा, 3 महिलाओं की मौत

महोबा सड़क हादसे में तीन महिलाओं की मौत हो गई और एक दर्जन मजदूर घायल हो गए।
महोबा सड़क हादसे में तीन महिलाओं की मौत हो गई और एक दर्जन मजदूर घायल हो गए।

श्रमिकों का झुंड दिल्ली से पैदल वापस घर लौट रहा था। मध्य प्रदेश की सीमा से यूपी की सीमा में पैदल घुसे श्रमिकों को पुलिस ने रोक लिया और राजमार्ग से गुजर रही एक डीसीएम में बैठा दिया। इस डीसीएम में भारी भरकम मशीनें लदी थीं।झांसी-मिर्जापुर राजमार्ग पर महुआ मोड़ के पास डीसीएम अनियंत्रित होकर पलट गई। सारे प्रवासी डीसीएम और भारी मशीनों के नीचे दब गए। जब तक राहत कार्य शुरू होता तीन महिला श्रमिकों की मौत हो गई। मरने वाली महिलाओं में खरेला के श्रीनगर थाने के पवा गांव निवासी हेमप्रकाश की पत्नी हीरा देवी, दयाराम की पत्नी संतोषी और जैतपुर चौकी के गांव विहार निवासी कालीचरण की पत्नी अनीता शामिल हैं।

अयोध्या में मिले 18 नए मरीज
अयोध्या में सोमवार को 18 नए कोरोना मरीज मिले। अयोध्या के डीएम अनुज झा ने इसकी पुष्टि की है। वहीं बहराइच में सीएमओ ने 10 नए केस मिलने की बात बताई है। रायबरेली में पांच नए केस सामने आए हैं। इसकी भी सीएमओ ने जानकारी दी है।

कानपुर में मरीजों की सेहत में सुधार
कोराेनावायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच कानपुर से राहत भरी खबर है। अप्रैल के दूसरे पखवाड़े में कोविड-19के मामलों में 10 गुना तक बढ़त दर्ज करने वाले कानपुर में हालात फिलहाल काबू में आते दिख रहे हैं। सोमवार को 26 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। जिले में कुल 316 केस और 269 डिस्चार्ज के साथ कानपुर में मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 85.12 प्रतिशत तक पहुंच गई है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
मजदूरों की वापसी को लेकर यूपी में सियासत जारी है। एक दिन पहले सरकार ने प्रियंका गांधी की मांग स्वीकार करते हुए एक हजार बसों की सूची मांगी थी लेकिन अब सरकार ने उन बसों के लाइसेंस और फिटनेस सर्टिफिकेट का पेंच फंसा दिया है।


from Dainik Bhaskar /national/news/uttar-pradesh-coronavirus-outbreak-lockdown-live-corona-cases-update-may-19-agra-kanpur-lucknow-meerut-noida-varanasi-latest-news-127317763.html
via IFTTT
Previous
Next Post »