अब तक 2.65 लाख जान गई: अमेरिका में मौतों का आंकड़ा 75 हजार के करीब; ट्रम्प ने कहा- टास्क फोर्स खत्म नहीं किया जाएगा

दुनिया में कोरोनावायरस से अब तक दो लाख 65 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। 38 लाख 21 हजार 687 लोग संक्रमित हैं, जबकि 12 लाख 99 हजार 417 ठीक हो चुके हैं। यूरोप में सबसे ज्यादा 30 हजार लोगों की जान ब्रिटेन में गई है। इससे पहले यहां इटली पहले स्थान पर था। उधर, अमेरिकी राष्ट्रपति ने बुधवार को कहा कि व्हाइट हाउस कोरोना टास्क फोर्स खत्म नहीं किया जाएगा। एक दिन पहले उन्होंने और उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा था कि इसे खत्म कर अर्थव्यवस्था खोलने वाला ग्रुप बनाने की बात कही थी। लेकिन अब यह पैनल वक्सीन बनाने पर ध्यान केंद्रीत करेगा।


अमेरिका: एक दिन में 2073 मौतें
अमेरिका में 24 घंटे में 2073 लोगों की जान गई और 25 हजार 459 केस मिले। देश में अब मरने वालों की संख्या 74 हजार 799 हो गया है। वहीं, 12 लाख 63 हजार 92 संक्रमित हैं। न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू क्यूमो ने बुधवार को बताया कि राज्य में एक दिन में 232 लोगों ने जान गंवाई है। इनमें 207 की मौत हॉस्पिटल में और 24 की नर्सिंग होम में हुई है। अब यहां संक्रमण और मौतों में कमी आ रही है।

कोरोना अब तक सबसे बुरा हमला: ट्रम्प
ट्रम्प ने बुधवार को कोरोना संक्रमण की तुलना पर्ल हार्बर पर हुए हमले से की। उन्होंने कहा कि यह अब तक देश पर हुआ सबसे बुरा हमला है। अगर चीन समय रहते कदम उठा लेता तो यह महामारी पूरी दुनिया को अपने चपेट में नहीं लेती। 7 दिसंबर 1941 को हुए इस हमले में करीब ढाई हजार अमेरिकियों की जान गई थी।

ब्रिटेन: 2 लाख से ज्यादा संक्रमित
ब्रिटेन में एक दिन में 649 लोगों की मौत हुई है और करीब पाांच हजार नए केस मिले हैं। इसके साथ ही देश में संक्रमितों की संख्या दो लाख से ज्यादा हो गई है। साथ ही 30 हजार 76 लोगों की जान जा चुकी है। देश में सोमवार से प्रतिबंधों में ढील दी जा सकती है।

इटली: मृतकों में लगातार कमी
इटली में 24 घंटे के दौरान 369 लोगों की मौत हुई है। नागरिक सुरक्षा विभाग ने बुधवार को कहा कि छह मई तक देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2 लाख 14 हजार 457 हो गई है। इटली यूरोप में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में से एक है। वहीं, सबसे ज्यादा मौत ब्रिटेन में हुई है।

आरोप लगाने के बजाए महामारी पर ध्यान दे अमेरिका: चीन
अमेरिका में चीनी राजदूत सुई तीआंकी ने अमेरिकी सरकार को आरोप-प्रत्यारोप लगाने का खेल बंद कर महामारी से निपटने की सलाह दी। उन्होंने कहा-चीन पर आरोप लगाना सही नहीं होगा, क्योंकि इससे महामारी के खिलाफ लड़ाई कमजोर होगी। हमेशा चीन को कोसने की प्रवृति राजनितिक लाभ के लिए की जाने वाली गंदी राजनीति है। महामारी से चीन सबसे पहले पीड़ित होने वाला देश था, इसलिएजिम्मेदार ठहराने का सवाल ही नहीं होता। यदि चीन को कोरोना से हुए नुकसान की भरपाई करनी होगी तो अमेरिका को भी 2008 में हुए वित्तीय संकट के लिए भरपाई करनी चाहिए।

सीरिया: प्रतिबंधों को हटाएगा
सीरिया प्रतिबंधों को हटाएगा। 10 मई से राज्यों में सार्वजनिक परिवहन की अनुमति दी जाएगी। स्कूल 31 मई से खोले जाएंगे। सरकार के कोरोना प्रतिक्रिया केंद्र ने बुधवार को बयान जारी कर कहा, "देश के सभी प्रांतों में सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों में सभी प्रकार के सार्वजनिक परिवहन के संचालन को फिर से शुरू किया जाएगा। हालांकि, इस दौरानसोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जाएगा। सीरिया पश्चिमी एशिया में सबसे कम प्रभावित देशों में से एक है। यहां अभी तक 45 मामलों की पुष्टि हुई है औऱ तीन की मौत हुई है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
न्यूयॉर्क में लोगों ने स्वास्थ्यकर्मियों के लिए ताली बजाई। राज्य में अब संक्रमण और मौतों में कमी हो रही है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3dln9XK
via IFTTT
Previous
Next Post »